भाजपा के बहुत ही वरिष्ठ और दिग्गज नेता का निधन, बीजेपी के दफ्तर में शोक का माहौल

1004

इधर महाराष्ट्र में एक लम्बे घमासान के बाद में भाजपा अपनी सरकार बना लेने की ख़ुशी में डूबी हुई थी और दूसरी तरफ एक बुरी खबर आयी जिसने उनके चेहरे से ख़ुशी का रंग ही गायब करना शुरू कर दिया क्योंकि बात ही कुछ ऐसी थी. अभी हाल ही में बीजेपी ने अरुण जेटली और सुषमा स्वराज जैसे दिग्गज नेताओं को खोया है लेकिन लगता है ये सिलसिला अब यहाँ थमने वाला नही था क्योंकि हाल ही में बीजेपी के एक और बड़े नगीने को भी उन्होंने कुछ समय पहले खो दिया.

वरिष्ठ नेता कैलाश चन्द्र जोशी का निधन, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रह चुके है
लम्बी बीमारी के चलते कैलाश चन्द्र जोशी को अपस्ताल में भर्ती करवाया गया था जहाँ पर उनका इलाज चलता रहा लेकिन फिर रविवार के सवेरे तक उनके प्राण छोड़ने की खबर अस्पताल से बाहर आ गयी. जिसके बाद ट्विटर पर कई बड़े और दिग्गज नेताओं ने अपनी तरफ से शोक प्रकट किया. वो बंसल अस्पताल में भर्ती थे और उनके निधन की खबर सुनते ही बंसल हॉस्पिटल के बाहर भाजपा से जुड़े लोगो का जमावड़ा सा लगने लगा था.

कैलाश जन्द्र जोशी का जनम सन 1929 में हुआ था. वो शुरू से काफी होशियार किस्म के व्यक्ति रहे जिन्होंने पहले जनसंघ के लिए काम किया और फिर बीजेपी में भी जुड़े रहे. मध्यप्रदेश में बीजेपी की जड़े जमाने का श्रेय कही न कही उन्हें भी दिया जाता है.आपातकाल के दौरान भी उन्होंने खुलकर के सरकार से विरोध किया और गिरफ्तार भी हुए, जेल भी हुए लेकिन जज्बे से नही हारे. 19 महीने तक उन्हें जेल में बंद रखा गया था. वो मध्य प्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री बने थे. हालांकि तबीयत खराब हो जाने के चलते उन्होंने बीच कार्यकाल में ही इस्तीफा भी दे दिया था.

आज कैलाश चन्द्र जोशी जैसे नेता जिनका योगदान बीजेपी को बनाने और उसे पैरो पर खड़ा करने में है उनका चला जाना कही न कही भारतीय जनता पार्टी के लिए बहुत ही बड़ी क्षति के सामान है जिसे कभी भी भरा नही जा सकता.