भाजपा के अजित पवार के साथ मिलकर सरकार बनाने पर शरद पवार का बड़ा बयान

475

भारतीय जनता पार्टी ने जिस तरह से रातो रात सब कुछ बदलकर के रख दिया वो अपने आप में हर किसी को हैरान करने वाला था क्योंकि किसी ने भी सोचा नही था कि इतना सब कुछ बदल जाने वाला है. शिवसेना सत्ता के इतना ज्यादा करीब थी लेकिन अचानक से ही शाहनीति से सारा का सारा पासा ही पलटकर के रख दिया. अजित पवार जो एनसीपी के नेता है वो अपने विधायको के साथ भाजपा को समर्थन देने चले गये लेकिन अब सवाल शरद पवार पर खड़े होते है कि कही इसमें उनकी मौन सहमति तो नही थी? इस पर उन्होंने चुप्पी तोड़ी है.

शरद पवार ने जारी किया बयान, ये अजित पवार का निजी फैसला
शरद पवार ने पिछली रात में जो कुछ भी हुआ है उससे पूरी तरह से पल्ला झाड लिया है और बयान जारी करते हुए कहा है कि ये अजित पवार का अपना निजी फैसला है इसमें मैं या फिर एनसीपी किसी भी तरह से शामिल नही है. शरद पवार ने ये भी कहा कि वो अजित पवार के इस फैसले का कही से भी समर्थन नही करते है.

राउत ने भी कहा, शरद पवार के साथ धोखा हुआ
राउत ने भी कही न कही शरद पवार के बयान पर भरोसा जताया है और कहा कि अजित पवार और उनके जो भी विधायक है उन्होने पाप किया है. शरद पवार के साथ में उनके ही लोगो ने धोखा किया है जो लोकतंत्र में कही से भी शोभा नही देता है. राउत को शायद अभी भी लगता है कि शरद पवार के साथ में एक सॉफ्ट कोर्नर बनाये रखने में ही उनका ज्यादा फायदा है.

खैर जो भी है इस बदलते हुए समय में बीजेपी तो अपने हिस्से का फायदा ले ही गयी है और ये कही न कही ठाकरे परिवार की राजनीति को अब तक का सबसे बड़ा ऐतिहासिक झटका है इस बात में कोई भी दो राय नही रख सकता है.