शिवसेना के विधायको में बगावत, उद्धव ठाकरे के हाथ पाँव फूले

974

शिवसेना पिछले समय से जो कुछ भी कर रही है वो पूरी तरह से अप्रत्याशित है क्योंकि किसी ने भी ऐसी कल्पना तक नही की थी कि भाजपा को छोड़कर के ठाकरे एनसीपी और कांग्रेस का दामन थामने की तरफ चल पड़ेंगे और ये हैरानी से भर देने वाला भी है. अब इतना बड़ा फैसला लिया है तो इसके कुछ न कुछ साइड इफेक्ट्स तो होंगे ही होंगे और ये साइड इफेक्ट्स तो सरकार बनाने से पहले ही नजर आने लगे है. कुछ विधायको ने उद्धव ठाकरे के फैसलों पर सवाल खड़े करने भी शुरू कर दिये है.

शिवसेना विधायको में आपस में हाथापाई, पूछा ‘सिर्फ ठाकरे परिवार के फायदे के लिये हमे ऐसे क्यों रखा जा रहा है’
आपको जानकारी तो होगी ही कि शिवसेना के सभी विधायको को फ़िलहाल काफी वक्त से रिजोर्ट में रखा गया है ताकि वो किसी अन्य पार्टी के संपर्क में न चले जाये. इस बात को हफ्ते बीतने आ रहे है और ऐसी हालत में अब कुछ विधायको का सब्र जवाब दे गया. रिपोर्ट के मुताबिक़ होटल में कुछ विधायको में हाथापाई भी हो गयी क्योंकि कुछ उद्धव से नाराज है तो कुछ उद्धव के पक्ष में है.

उन्होंने सवाल खड़े किये है कि सिर्फ ठाकरे परिवार के मुख्यमंत्री पद के फायदे के लिये हमें इस तरह से बंद क्यों रखा जा रहा है? सवाल तो उन्होंने ये भी उठाया है कि आखिर बीजेपी के साथ चुनाव लड़ा और फिर वो हमारे ही विरोधियो के साथ जाकर के कैसे मिल गये? मामला गंभीर होते हुए देखकर के उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे दोनों ही भागे भागे होटल पहुंचे और उन्हें शांत करवाने की कोशिश की.

अब मामला इतना संवेदनशील है तो उद्धव ठाकरे भी अपने विधायको के सामने नरमी से पेश आ रहे है क्योंकि उन्हें नाराज करने का रिस्क तो वो उठा ही नही सकते है. खैर वक्त वक्त की बात है एक समय था जब शिवसेना के आगे सब झुक जाते थे और एक ये वक्त है जब शिवसेना की कमर ही मुड गयी है.