अब राम मंदिर को लेकर बाबा रामदेव ने उठायी 4 बड़ी मांग, एक से मुस्लिम नाराज हो जायेंगे

236

सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार वो बड़ा फैसला दे दिया है जिसका सभी लोगो को लम्बे समय से इन्तजार था और वो मुद्दा है राम मंदिर का. हर किसी को जैसी उम्मीद थी फैसला भी काफी हद तक वैसा ही आया है. अयोध्या में राम मंदिर की जमीन राम लला को दे दी गयी है और मंदिर के भव्य निर्माण की तैयारी होने लग गयी है. हर कोई इससे ख़ुश है और ख़ास तौर पर संत समाज तो इसमें अपनी ख़ास प्रसन्नता व्यक्त कर रहा है मगर उनकी भी कुछ एक मांगे है जिनमे से एक बाबा रामदेव है.

बाबा रामदेव ने राम मंदिर के निर्माण को लेकर के मोदी सरकार के सामने कुछ एक मांगे रखी है. हालांकि बाबा अपने आप में मोदी जी के पास खास पहुँच रखते है तो ऐसे में उनकी बातो पर गौर तो किया ही जाना है इस बात में कोई भी शक नही है.

  1. बाबा रामदेव ने पहली मांग तो ये रखी है कि जो भी वीएचपी से जुड़े लोग जिन्होंने आन्दोलन किया, वो कारसेवक जिन्होंने अपने बलिदान दिए और लम्बे समय तक जुड़े रहे उन लोगो को राम मंदिर ट्रस्ट में जगह मिलनी चाहिये.
  2. राम मंदिर का जब निर्माण हो जाए तो उसका शिलान्यास करने के लिये खुद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को आना चाहिये.
  3. राम जन्मभूमि पर सिर्फ और सिर्फ मंदिर ही नही बने बल्कि उसके पास में एक राम जी के नाम का विश्वविद्यालय भी बने जिसमे हमारी संस्कृति से जुडी शिक्षा दी जाये. इसके अलावा अयोध्या में और भी भव्य चीजो का निर्माण हो जो रामायण से जुडी हो.
  4. अभी एक मांग उठी है कि मुस्लिम पक्ष को राम मंदिर के पास 67 एकड़ में 5 एकड़ जमीन मिले तो ऐसा बिलकुल भी न हो क्योंकि दोनों ही अलग अलग धर्म है तो पास में रहना ठीक नही है.

ये कुछ मांगे है जो स्वामी रामदेव की तरफ से रखी गयी है. अंतिम पक्ष में वो मुस्लिम पक्ष की मांग का विरोध करते हुए नजर आ रहे है और इससे हो सकता है वो बाबा रामदेव से थोड़े नाराज भी हो जाए लेकिन शायद उन्हें कोई फर्क नही पड़ता.