सोनिया गांधी के सामने झुकने वालो के लिये बाल ठाकरे ने क्या कहा था?

252

शिवसेना आज की तारीख में अपना जो कुछ भी वर्चस्व रखती है उसके पीछे कही न कही बाल ठाकरे का हाथ है इस बात में कोई भी दो राय नही रख सकता है. हिन्दू धर्म से जुडी हुई विचारधारा और ख़ास तौर पर मराठियों को सशक्त बनाने के इरादे से उन्होंने शिवसेना का गठन किया और आज ये महाराष्ट्र में अपना सबसे अधिक वर्चस्व रखने वाली पार्टी है. वो अपने सिद्धांतो के पूरे पक्के और सत्ता का लोभ लालच न करने वाले इंसान थे और इसी कारण से किसी भी पार्टी का व्यक्ति हो वो उनका सम्मान आज भी करते है.

 इटालियन मम्मी कहकर बुलाते थे, सामने झुकने वालो के लिये इस्तेमाल करते थे ऐसे शब्द
बाल ठाकरे का दूसरी पार्टियों से चाहे जो भी नाता रहा हो लेकिन कांग्रेस की नीतियों के वो घोर विरोधी थे और जब से सोनिया गांधी उनकी अध्यक्ष बनी तब से तो वो और भी अधिक आक्रामक हो गये थे. वो सोनिया गांधी को इटालियन मम्मी कहकर के चिढाने लगते थे और तो और उन्होंने उनके सामने झुकने वाले लोगो को हिजहा तक कहकर के संबोधित करना शुरू कर दिया था. इस पर बहुत ही ज्यादा विवाद खड़ा हुआ था.

अब बदल गयी शिवसेना, सिद्धांत से पहले सत्ता पर जोर
शिवसेना का जो स्वरुप पहले था वो अब पूरी तरह से बदला हुआ नजर आ रहा है. बीजेपी से गठबंधन तोड़ना एक अलग मसला था लेकिन एनसीपी और कांग्रेस के साथ में गठबंधन करना जाहिर तौर पर शिवसेना का निर्माण करने वाले प्राथमिक सदस्यों को तो बिलकुल भी पसंद नही आएगा. आखिर उनके पास में सत्ता में बैठने के कितने मौके आये होंगे? मगर उन्होंने उसे लात मारकर हमेशा अपने सिद्धांतो को ही प्राथमिकता पर रखा जो कही न कही बीजेपी से भी उनकी दोस्ती को बरकरार रखे हुआ था.

अब इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि शिवसेना को किसी के सामने झुकना पड़ा है और जिसके सामने झुकना पड़ा है वो और कोई नही बल्कि उनके ही शुरूआती विरोधी दल है.