अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आते ही 48 घंटे में अमित शाह ने ये काम शुरू कर दिया है

417

अयोध्या में राम मंदिर की लड़ाई कितनी पुरानी है ये बात किसी से भी छुपी हुई बिलकुल भी नही है. हर कोई जानता है कि बड़ी ही मुश्किल से हिन्दू पक्ष ने अपने आराध्य की जमीन वापिस हासिल की है और अब जब सुप्रीम कोर्ट ने ये जमीन हासिल कर ली है तो फिर ऐसी स्थिति में अब सभी सोच रहे है कि जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी मंदिर बन जाए. अब सभी को लगा कि सरकार के हिस्से काम आया है तो सरकारी कामकाज तो धीरे धीरे ही होगा लेकिन ऐसा नही है और शाह ने ऐसा साबित कर दिया.

गृह मंत्रालय राम मंदिर ट्रस्ट बनाने के लिये एक्टिव हुआ, टीम का गठन किया गया
गृह मंत्रालय जो कि अमित शाह के अंडर आता है वो सुप्रीम कोर्ट का आदेश आते ही सारी समीक्षा में लग गया है. उनकी तरफ से एक टीम का गठन महज 48 घंटो के भीतर कर दिया गया है. ये कई चीजे बारीकी के साथ जांचेगी परखेगी  ये टीम राम मंदिर के निर्माण के लिये ट्रस्ट बनाने के लिये काम करेगी और फिर मुख्य कार्य सांस्कृतिक मंत्रालय के हाथ में होगा और इसके भी एक दो दिन में एक्टिव हो जाने की उम्मीद है. अगर इसी गति से काम होता रहा तो आने वाले एक से दो हफ्तों में ही ट्रस्ट भी बन जाएगा. इस स्पीड से काम शुरू करने के लिए लोग अमित शाह का अभिवादन कर रहे है.

लिये गये है और और भी कई सारे
फैसले सिर्फ यही वो फैसला ही है जिसके लिए उनका अभिवादन हो रहा है. गृह मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट के उन पांचो जजो को विशेष सुरक्षा दिलवाई है ताकि कोई फैसले से नाराज लोग उन्हें नुकसान न पहुंचा सके और इसके अलावा राम मंदिर के मुख्य पुजारी और उनके परिवार को भी खास सुरक्षा मुहैया करवा दी गयी है. उनके घर के बाहर पुलिसकर्मियों का हर वक्त पहरा लग चुका है और देश भर में जिस तरह से पुलिस ने शान्ति का माहौल बना रखा है वो तो आप देख ही रहे है.

अगर ट्रस्ट का गठन इसी माह के भीतर कर लिए जाये तो मंदिर निर्माण का काम भी जल्द से शुरू कर दिया जाएगा क्योंकि मंदिर निर्माण के लिये पैसे और लोगो के सपोर्ट की तो कोई कमी आने वाली नही है.