अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश नही है स्वरूपानंद सरस्वती, कही ये बाते

540

अयोध्या मामले पर इतने लम्बे समय तक सुनवाई चलने के बाद में आखिरकार फैसला आ गया और जैसी कि उम्मीद थी फैसला भी उसी के अनुरूप ही आया है. यानी मंदिर निर्माण का रास्ता प्रशस्त हो गया है. अब चिंता वाली बात ही नही रही है, बस सरकार को ट्रस्ट का गठन करना है जो मंदिर बनाने और उसकी देखभाल करने का कार्य करेगा. अब इस पर वाकई में हर किसी को ख़ुशी भी जाहिर करनी बनती है मगर कोई है जो इससे बड़ी ही नाखुशी जाहिर की है और लोग उस व्यक्ति को संत भी कहते है.

स्वरूपानंद सरस्वती ने जताई फैसले से नाखुशी, कहा इससे झगडे होंगे
स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती से जब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो सभी को लगा वो इसका स्वागत करेंगे लेकिन ऐसा नही हुआ. स्वामी ने इस पर अपनी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा कि हम तो इस फैसले से बिलकुल भी खुश नही है. इस फैसले से लोगो में झगडे होने लगेंगे. स्वामी के इस बयान के बाद में उनकी जमकर के आलोचना की जा रही है. हालांकि ज्यादातर लोग उन्हें सिर्फ इग्नोर करने की ही सलाह दे रहे है.

औवेसी ने भी कहा, मस्जिद की जमीन का सौदा नही करेंगे
स्वामी जी के अलावा एक औवेसी भी है जो सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से संतुष्ट नही है. औवेसी ने अपने बयान में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूँ लेकिन मुस्लिमो को खैरात में पांच एकड़ जमीन देने की जरूरत नही है. हम इतने गरीब नही है कि पांच एकड़ जमीन न ले सके. औवेसी ने तो ये जमीन लेने को मस्जिद का सौदा करना तक बता दिया है. ऐसे में लोग उसे भी इस तरह के बेतुके बयानों के चलते काफी ज्यादा लताड़ लगा रहे है.

अब सवाल ये उठता है कि अगर इसी तरह से बयानबाजी चलेगी तो लोग भी समझ ही जायेंगे कि हर कोई सिर्फ और सिर्फ अपनी राजनीति चमकाने की फिराक में है और सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी वही किया जा रहा है.