सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राम मंदिर पर बोले प्रधानमंत्री मोदी

89

सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर के मामले पर फैसला सुना दिया और हर कोई इसका इन्तजार काफी लम्बे वक्त से कर रहा था इस बात में कोई भी दो राय नही है और ऐसे में अब जब फैसला आ गया है और तय हो चुका है कि अयोध्या में विवादित जमीन पर राम मंदिर ही बनेगा तो हिन्दू पक्ष में सबसे ज्यादा ख़ुशी की लहर है. लोग बेहद ही प्रसन्न है और हर किसी के दिल में प्रेम भरा भाव आ रहा है इस बात में कोई भी दो राय नही है.

ऐसे समय में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देश को एड्रेस किया और अपनी तरफ से कुल दस बाते रखी है जो सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गये फैसले पर है. चलिए फिर आपको पॉइंट टू पॉइंट वो बाते बताते है कि प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कुछ कहा है?

  1. पूरे देश की ये इच्छा थी कि इस मामले की रोज सुनवाई हो, जो हुई और दशको तक चली न्याय प्रक्रिया का अब जाकर के समापन हुआ है.
  2. फैसला आने के बाद में जिस तरह से हर वर्ग के लोग ने इसे खुले दिल से स्वीकार किया है वो भारत की संस्कृति का प्रतीक है. इसे हम विविधता में एकता कहते है.
  3. इस विषय पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सभी को सुना और फैसला सबकी सर्वसम्मति से आया. ये कार्य सरल नही है, सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले के पीछे इच्छा शक्ति है.
  4. सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले ने आज सन्देश दे दिया है कि कठिन से कठिन मसले का हल संविधान के दायरे में ही आता है. इस पर हमारा विश्वास अडिग रहे, ये महत्वपूर्ण है.
  5. सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या के सम्बन्ध में ये फैसला एक नया सवेरा लेकर के आया है. इस विवाद से भले ही कई पीढियों पर असर रहा हो लेकिन आगे हमें संकल्प लेना होगा कि नयी पीढ़ी अब न्यू इंडिया के निर्माण में जुटेगी.
  6. राम मंदिर के निर्माण का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने दे दिया है, अब राष्ट्र निर्माण की जिम्मेदारी हम पर और भी बढ़ गयी है. नियम क़ानून का पालन करने का दायित्व हम सब पर है. ये हम सभी के उज्ज्वल भविष्य के लिए बहुत ही अनिवार्य है.