शिवसेना और भाजपा की लड़ाई में एक नया ट्विस्ट, अब शिवसेना ने की ये नयी मांग

591

महाराष्ट्र के राजनीतिक गलियारों में चल रही हलचल से कोई भी नावाकिफ तो बिलकुल भी नही है. जिस तरह से शिवसेना और बीजेपी के बीच में सत्ता को लेकर के गुत्थम गुत्थाई हो रही है वो अब मीडिया में भी खुलेआम आ चुकी है जो कही न कही इनके गठबंधन को भी नुकसान पहुंचा रही है. खैर शिवसेना की मांग तो सभी जानते ही है, वो बीजेपी से आधे कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री का पद और सत्ता में आधी हिस्सेदारी मांग रहे है. ये सब तो बीजेपी ने मानी नही है लेकिन शिवसेना ने एक और ट्विस्ट इस मसले में फिर से ला दिया है.

शिवसेना नेता संजय राऊत ने फडनवीस के इस्तीफे की मांग की, सरकार का कार्यकाल खत्म होने के बाद नही रह सकते मुख्यमंत्री
शिवसेना के दिग्गज नेता और उद्धव ठाकरे के करीबी संजय राऊत ने साफ़ तौर पर कहा है कि अब देवेन्द्र फडनवीस को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिये क्योंकि उनकी पिछली सरकार का कार्यकाल खत्म हो चुका है और अब नयी सरकार में समर्थन के लिये बीजेपी के लोग हमारे पास में सिर्फ तभी आये जब वो हमारी सारी बातो और मांगो से सहमत हो. संजय राऊत की दो टूक भाजपा के लिए मुश्किलें खड़ी कर रही है.

संजय राऊत ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को लेकर के भी अपनी राय रखी और कहा कि अगर ये शासन लगता है तो ये महाराष्ट्र की जनता का अपमान होगा. भाजपा को अब हमारी सीएम पद की मांग मानकर के हमारे पास आ जाना चाहिए. खैर शिवसेना अगर अपने स्टैंड पर कायम है तो बीजेपी भी पीछे हटने के मूड में नजर नही आ रही है. हालांकि बार बार मीटिंग बुलाकर के दोनों पार्टियों में सुलह करवाने की कोशिश की जा रही है.

हाल ही में शिवसेना की तरफ से संघ प्रमुख मोहन भागवत को चिट्टी लिखकर के उनसे दखल की मांग की गयी थी और अब संभाजी भिड़े खुद भी उन्हें समझाने के लिए पहुंचे है. देखना ये होता है कि ठाकरे और फडनवीस कब तक अपनी बातों पर डटे रहते है?