इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर के नाम पर सिखों के साथ धोखा कर दिया

130

अभी हाल ही में पाक ने बड़े ही उतावलेपन के साथ में करतारपुर कॉरिडोर पर कदम आगे बढाए है और ये अब शुरू होने ही वाला है कि इससे पहले इसकी सच्चाई सामने आने लगी है जिससे मालूम चलता है कि पाक का ये कोरिडोर बनाना सिर्फ और सिर्फ उसकी एक सोची समझी चाल है जिसे आज नही तो कल दुनिया के सामने आना ही था जो इसके उदघाटन के पहले आ ही गयी. आखिर ऐसा क्या हो गया? दरअसल इसके जरिये पाक भारत के लोगो को राजनैतिक और आर्थिक चूना लगाने की फिराक में है.

पाक ने अचानक से लगायी करतारपुर जाने वालो पर 20 डॉलर की फीस, पहले किया था कोई भी शुल्क लगाने से इनकार
कुछ समय पहले पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद कहा था कि हम करतारपुर आने वाले यात्रियों से कोई भी शुल्क नही लेंगे लेकिन हाल ही में एएनआई ने रिपोर्ट जारी की है जिसके मुताबिक़ पाक अब करतारपुर साहिब आने वाले यात्रियों से 20 डॉलर का शुल्क वसूल करेगा, ये भारतीय रूपये में लगभग 1400 रूपये होती है यानी अब सिखों को अपने तीर्थ स्थान जाने के लिए शुल्क देना पड़ेगा क्योंकि पाक उसमे चालाकी कर रहा है. ऐसे में मजदूर और गरीब वर्ग से आने वाले लोगो के लिये ये यात्रा करना काफी आर्थिक बोझ लेकर के आएगा. यही काम कभी मुग़ल जजिया कर लगाकर के करते थे.

राजनैतिक चाले भी खेल रहा है पाक
पाकिस्तान ने हाल ही में इसे लेकर के एक विडियो सोंग भी जारी किया है जिसमे भिंदरावाले की तस्वीर थी जो भारत के खिलाफ बगावत करने वाला व्यक्ति था और तो और सिद्धू को फिर से उद्घाटन के लिए बुलावा भेजा गया है जो बाजवा के गले लगकर के पहले ही आलोचना झेल चुके है. ऐसे में पाक अपनी कारस्तानियो से तो बिलकुल भी बाज नही आ रहा है.

हालांकि भारत सरकार अभी इस पर कुछ कह नही रही है क्योंकि बात सिखों की आस्था की है और वो लोग करतारपुर साहिब जाकर के अपना तीर्थ करना चाह रहे है. ये भारत के बॉर्डर के बिलकुल उस पार पड़ता है, इसी का फायदा अब पाक पैसे उगाने के लिए करेगा.