अमित शाह का पूरे गाँधी परिवार को अब तक का सबसे बड़ा झटका

102

पिछले लम्बे समय से मोदी सरकार कुछ एक ऐसे फैसले ले रही है जो कही न कही देश हित में तो है लेकिन कांग्रेस पार्टी को वो फैसले बिलकुल भी पसंद नही आ रहे है क्योंकि वो उनके हित में नही है. हाल ही में ऐसा ही कुछ हुआ जिसने गांधी परिवार का दशको पुराना वो स्टेटस गिरा दिया जो उन्हें मिला हुआ था. इसके बाद से हे कांग्रेस पूरी तरह से तिलमिलाई हुई है क्योंकि मोदी सरकार ने सीधे सीधे तौर पर गांधी परिवार की विशेष सुरक्षा खत्म करने का निर्णय कर लिया है.

अब गांधी परिवार के सदस्यों को नही मिलेगी एसपीजी सुरक्षा, निचले स्तर की सिक्यूरिटी से चलाना होगा काम
अब तक गांधी परिवार के सदस्यों को जिनमे प्रियंका, सोनिया और राहुल आते है इन्हें प्रधानमंत्री के लेवल की सुरक्षा दी जाती थी जिसे एसपीजी प्रोटेक्शन भी कहा जाता है. गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में फैसला लिया गया है कि अब गांधी परिवार के लोगो को जेड प्लस सिक्यूरिटी दी जाए क्योंकि अब उन्हें इस तरह की सुरक्षा की जरूरत नही है. अब जल्द ही राहुल गांधी का स्पेशल सुरक्षा वाला घेरा खत्म हो जाएगा जो उन्हें पीएम के समकक्ष तक बना देता था.

कांग्रेस ने बताया इसे राजनीतिक साजिश, आरएसएस का हाथ होने के आरोप
कांग्रेस पार्टी गृह मंत्रालय के इस फैसले के बाद में कुछ ज्यादा ही तिलमिला गयी है. पार्टी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मोदी सरकार ये सब कुछ राजनीतिक साजिश के तहत कर रही है और इसके पीछे आरएसएस का हाथ है. उन्होंने तमाम बाते कही है जिससे वो सरकार की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचा सके हालांकि ये उस हद तक कामयाब हो नही पाता है मगर बयान जारी करने में क्या जाता है?

अब भी गांधी परिवार के लोगो को जेड प्लस की सिक्यूरिटी मिलेगी जिसमे सीआरपीएफ के कमांडोज होते है. ये भी सुरक्षा करने में बहुत ही ज्यादा माहिर होते है और इन पर देश के बड़े बड़े लोगो की सुरक्षा का भरोसा किया जाता है हालांकि अब गांधी परिवार एसपीजी के लायक नही रहा.