अब उद्धव ठाकरे को इस बात का डर लगने लगा है, ले सकते है बड़ा एक्शन

309

महाराष्ट्र में जिस तरह के चुनावी समीकरण चल रहे है वो किसी से भी छुपे हुए तो बिलकुल भी नही है और ये अपने आप में चिंता दिलवाने वाले भी है क्योंकि जिस तरह से भाजपा और शिवसेना के बीच में टकराव बढ़ा है वो महाराष्ट्र की जनता को स्थिर सरकार दे पायेगा या नही ये सवाल भी पैदा कर रहा है. हालांकि अब इन सबके बीच में उद्धव ठाकरे को एक और नयी चिंता भी सताने लगी है जिसके चलते वो इन दिनों अपने विधायको को सुरक्षित रखने के ऊपर ज्यादा फोकस होने लग रहे है.

मातोश्री पर हुई शिवसेना की मीटिंग, होटल में शिफ्ट किये जा सकते है सारे विधायक
मातोश्री पर आज सुबह ही शिवसेना की एक मीटिंग हुई जिसमे उन्होंने हाल ही के मुद्दों पर चर्चा की जो बीजेपी के साथ में चल रहे है और इसी के साथ में शिवसेना को अपने विधायक टूटकर के बीजेपी की तरफ जाने का डर भी सता रहा है जिसके चलते हुए मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिवसेना के सभी विधायक एक होटल में शिफ्ट किये जा रहे है. उनसे सभी फोन भी ले लिए जायेंगे जिसके बाद में उन्हें वही पर ही रहना होगा. वो एक लैंडलाइन के जरिये अपने घर वालो से जरुर बात कर सकेंगे.

 भाजपा कई बार बहुमत होने का दावा कर चुकी है, शिवसेना के चिंता की वजह भी यही है
भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कई बार उनके पास में बहुमत होने जैसी बाते उड़ा दी जिसके बाद में उद्धव ठाकरे का चिंता में होना स्वाभाविक है और ऐसा कई दफा हुआ है जब बीजेपी ने जोड़ तोड़कर के कई राज्यों में सरकारे खड़ी कर दी है. अब उद्धव ठाकरे और शिवसेना ने सभी को एकजुट रखने के लिये ये फैसला लिया है जो उनकी पार्टी के नजरिये से देखा जाए तो ठीक भी है.

अब बीजेपी और शिवसेना के पास में मुश्किल से एक से दो दिन है और इतने दिन में कोई भी गठबंधन अपना बहुमत दिखाकर के सरकार बनाने का दावा पेश नही करता है तो महाराष्ट्र में सरकार का संकट खड़ा हो जाएगा और फिर राष्ट्रपति शासन या दुबारा चुनाव जैसी स्थितियां भी आ सकती है.