कश्मीर पर कांग्रेस पार्टी ने खेली ऐसी गन्दी चाल, मोदी को यूरोपियन यूनियन के आगे झुकना पड़ा

325

अभी हाल ही में कश्मीर में जो कुछ भी हो रहा है वो सभी लोग देख रहे है और बखूबी समझ भी रहे है.  कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही सरकार काफी आक्रामक रही है और इस कारण से पाक भी चुप हो गया वो ज्यादा कुछ बिगाड़ नही पाया है लेकिन जब अपने ही पीठ पीछे हमला करने लगे तब क्या हो? आपको मालूम तो होगा कि मजबूरी में ही सही लेकिन मोदी सरकार को यूरोपियन युनियन के एक दल को कश्मीर जाने की इजाजत देनी पड़ी ताकि वो वहाँ का मुआयना कर सके. इसकी स्थिति और किसी ने नही बल्कि कांग्रेस ने पैदा की.

कुछ दिन पहले कश्मीर का मुद्दा लेकर यूरोप गया था कांग्रेस का दल, जताई थी चिंता अब से कुछ दिन पहले ही भारत की विपक्षी पार्टी यानी कांग्रेस यूरोप गयी थी वहां पर उन्होंने कैरी से मुलाक़ात की जो भारत के फैसलों के खिलाफ ही रहते है. कांग्रेस ने यूरोप में खड़े होकर के कश्मीर में मानवाधिकारों को लेकर के चिंता जताई जिसे दुनिया भर की मीडिया ने दिखाया कि किस तरह से भारत की ही एक विपक्षी पार्टी सरकार के फैसले का दुनिया भर में विरोध करती घूम रही है.

रायते को समेटने के लिए मोदी को करना पडा यूरोपियन सांसदों को आमंत्रित अब कांग्रेस पार्टी ने जो रायता दुनिया भर में फैलाया उसके बाद में दुनिया भर में जो भी देश भारत के समर्थन में थे वो भी हिलने लगे डुलने लगे और सवाल खड़े करने लगे. ऐसे में इस मामले में दुनिया को सफाई देने के लिए मोदी सरकार को मजबूरी में ही सही लेकिन यूरोपियन युनियन के एक दल को भारत आने की न सिर्फ अनुमति देनी पड़ी बल्कि विदेश मंत्रालय ने ही उनके आने जाने और रूकने की व्यवस्था की है.

ये भारत की राजनीति के लिए काफी घातक सिद्ध होने वाला है क्योंकि एक दल को आने की अनुमति देने पर दुनिया भर के अन्य देशो के दल भी ऐसी ही मांग करेंगे और ऐसे में भारत के लिए उन सभी को संभालना मुश्किल हो जाएगा. ऐसे में जिस कांग्रेस ने ये स्थितियां पैदा की है वही इस पर भारत सरकार को कोस रही है.