शिवसेना आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने पर अड़ी, फडणवीस ने दिया ये जवाब

217

जबसे महाराष्ट्र में विधानसभा के चुनाव खत्म हुए है उसके बाद से ही महाराष्ट्र की राजनीति में उठापटक शुरू हो गयी है. जहाँ एक तरफ सबसे बड़ी पार्टी बनी बीजेपी अपने फडनवीस को दुबारा से मुख्यमंत्री बनते हुए देखना चाहती है वही शिवसेना का कहना है कि हम सत्ता में पचास प्रतिशत भागीदारी से कम पर नही मानेंगे जिसमे शिवसेना से ढाई साल के लिये मुख्यमंत्री भी बनाया जाए. मुख्यमंत्री के लिये आदित्य ठाकरे का नाम भी प्रस्तावित किया गया है मगर बीजेपी इस पर बिलकुल भी राजी नही है और फडनवीस ने तो इस पर सीधा सीधा इनकार ही कर दिया है.

फडनवीस का शिवसेना को सीएम पद देने से इंकार, कहा सीएम तो मैं ही बनूंगा
भाजपा दल के चुने गये फडनवीस ने कहा कि हमारे बीच में फिफ्टी फिफ्टी बंटवारे को लेकर के ऐसी कोई बात ही नही हुई थी. मुख्यमंत्री पद शिवसेना को दिया नही जाएगा. उन्होंने साफ़ तौर पर इससे इनकार कर दिया है जिसके बाद में दावे तो ये तक किये जा रहे है कि शिवसेना के 45 विधायक बीजेपी के संपर्क में है जो उनसे मिलकर के सरकार भी बन सकते है. हालांकि अफवाहों का भी एक बाजार है तो जब तक भाजपा कुछ कह न दे तब तक कुछ माना नही जा सकता.

शिवसेना नेता राऊत भडके, मीटिंग भी बीचमें टली
शिवसेना नेता संजय राउत इस बात पर भड़क गये है और कहने लगे कि अगर भाजपा इस बात से ही इनकार कर रही है कि ऐसी कोई बात थी तो फिर कुछ कहने का मतलब ही नही बनता है. रिपोर्ट्स के अनुसार शिवसेना और बीजेपी के नेताओं की आपस में मीटिंग होने वाली थी लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर के चल रही खींचतान के चलते मीटिंग को बीच में ही रोकना पड़ा.

अब जिस तरह से महाराष्ट्र में दोनों ही पार्टियां एक दुसरे के आमने सामने आ खड़ी हुई है ऐसे में कही न कही एक बात तो साफ़ हो जाती है कि महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल जरुर आने वाला है.