गोपाल कांडा के समर्थन से हरियाणा में सरकार बनाने के विरोध में उतरी उमा भारती

125

अभी हरियाणा की राजनीति में जो भी स्थिति बन रही है वो तो सभी के सामने ही है. न तो भाजपा को पूर्ण बहुमत मिला है और कांग्रेस तो उससे काफी ज्यादा दूर है. ऐसे में दोनों ही पार्टियां सत्ता में बैठने के लिए कोशिशे कर रही है. एक तरफ कुछ लोग जेजेपी को अपनी तरफ रिझाने की कोशिश में लगे हुए है तो दूसरी तरफ कई निर्दलीय लोगो का भी एक गुट है जिसकी मदद से सत्ता के करीब पहुँचा जा सकता है और ऐसे में जो भी संभव हो सके वो कम भाजपा कर रही है.

गोपाल कांडा के साथ दो और विधायक चार्टड प्लेन में दिल्ली के लिये उड़े
चुनावी परिणाम आने के बाद में शाम होते ही भाजपा ने कोशिशे शुरू कर दी और इसी दौरान उन्होंने निर्दलीय विधायको से संपर्क साधना शुरू किया जिसके बाद में गोपाल और दो और निर्दलीय विधायक उनके साथ में दिल्ली के लिए उड़े. रिपोर्ट्स के अनुसार वो शाह और हाईकमान से मिलने जा रहे थे ताकि भाजपा को समर्थन दे सके और सरकार में जगह पा सके. ये अपने आप में काफी ज्यादा बेचीदा पल ही कहा जाएगा.

उमा भारती ने दागे ट्वीट पर ट्वीट, अपराधियों से समर्थन न लेने की सलाह दी
उमा भारती इन दिनों राजनीति और शहरो से काफी दूर है और इसी के चलते उन्होंने ट्विटर के जरिये कुछ एक ट्वीट किये है जिसमे वो कहती है मुझे पता चला है कि हरियाणा में हम लोग सरकार बना सकते है जिसमे हमें गोपाल कांडा का समार्थन मिल रहा है. इस व्यक्ति के कारण एक लडकी ने अपनी जान दी थी और ये अभी जमानत पर है. उमा भारती ने ये सब बाते याद दिलाकर के भाजपा से इशारो ही इशारों में उससे समर्थन न लेने के लिए कहा है.

क्यों गोपाल के नाम पर हंगामा बरपा है?
गोपाल कांडा का इतिहास कोई ज्यादा अच्छा नही रहा है. उस पर एक एयरहोस्टेस ने शोषण करने का आरोप लगाया था और फिर उसने अपनी जान भी दे दी. इस सम्बन्ध में कई जाने गयी और केस उलझा का उलझा रह गया जिसके बाद में गोपाल कांडा की छवि खूब खराब हुई थी.