अब मायावती छोड़ेगी हिन्दू धर्म, करने जा रही है धर्म परिवर्तन

265

मायावती के बारे में तो आप जानते ही होंगे. वो काफी बड़ी नेता है और यूपी की सीएम भी रह चुकी है. हिन्दू दलित उनका सबसे बड़ा वोट बैंक है जिनके दम पर वो इतनी बड़े और कद्दावर नेता के तौर पर जानी जाने लगी. वो हमेशा से ही दलितों की राजनीति करती आयी है और इसी के नाम पर मायावती ने वोट उगाये है इस बात में कोई भी दो राय नही है मगर हाल ही में मायावती के एक ऐलान ने सभी को हैरान करके रख दिया है और और वो ऐलान है धर्म परिवर्तन का.

मायावती ने कहा, समय आने पर अपना लूंगी बौद्ध धर्म
मायावती इस 14 अक्टूबर को नागपुर गयी थी जहाँ पर वो एक रैली को संबोधित कर रही थी और इसी संबोधन के दौरान उन्होंने कहा ‘जीवन समाप्त होने से पहले बाबा साहब ने बौद्ध धर्म अपना लिया था. आप लोग भी सोच रहे होंगे कि बहन जी कब बाबा साहब के रास्ते पर चलकर के बौद्ध धर्म अपनायेगी? मैं भी बौद्ध धर्म की दीक्षा लूंगी लेकिन ये सब सही समय आने पर ही होगा.’

मायावती कहती है कि मैं अकेले धर्म परिवर्तन नही करूंगी बल्कि मेरे साथ बहुत ही बड़ी संख्या में लोग धर्म बदलेंगे. ये धर्म परिवर्तन का काम तभी संभव हो सकता है जब बाबा साहब के अनुयायी राजनीति में भी उनकी बातो को माने और उन पर चले. महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने है और उसी के चलते इस तरह की उल जलूल बयानबाजियां की जा रही है. हर कोई इससे हैरान है कि मायावती ने इतनी बड़ी बात कह दी और कही न कही ये काशीराम के सिद्धांतो की धज्जियां उड़ा देने जैसा ही है.

शुरू से ही दलित आड़ में हिन्दू विरोधी राजनीति में नजर आयी है मायावती
मायावती शुरू से ही दलितों को के नाम का उच्चारण कर करके उन्हें हिन्दू धर्म से अलग थलग करने की कोशिश करती रही है और अब तो उन्होंने अपने साथियो और जानने वालो के साथ में बौद्ध बनने की भी घोषणा कर दी है.