मोदी जी की भतीजी से दिल्ली में पर्स छीना था, पुलिस ने लुटेरो को 24 घंटे में पकड़ लिया

109

दिल्ली में चोरी और लूट जैसी वारदाते दिन ब दिन बढ़ती ही चली जा रही है और ये अपने आप में चिंता का विषय भी है क्योंकि जिस तरह से क्राइम रेट बढ़ा है उसके बाद में आम लोग तो चिंता में आयेंगे ही आयेंगे. अब आपको मालूम तो होगा ही कि हाल ही में ऐसी ही एक घटना का शिकार प्रधानमंत्री मोदी जी की भतीजी भी हुई थी लेकिन उनका केस तो दिल्ली पुलिस ने किसी जांच एजेंसी से भी ज्यादा स्पीड के साथ में सोल्व कर लिया और शाबासी की हकदार बनी है.

मोदी जी की भतीजी के साथ में दिल्ली में क्या हुआ था?
प्रधानमंत्री मोदी की भतीजी दमयंती बेन अपने पति के साथ अमृतसर गयी थी और अब गुजरात लौटते समय वो एक रात दिल्ली में रुकी थी. दिल्ली के सिविल लाइन्स में मौजूद गुजराती भवन में ही उनका रूकना था जिस तरफ वो जा रही थी लेकिन तभी जाते वक्त रिक्शा में से उनके पर्स को चोर छीन ले गये जिसमे 56 हजार रूपये, गहने और जरूरी दस्तावेज भी मौजूद थे.

पुलिस ने दिखाई मुस्तैदी, 24 घंटे में पकडे गये आरोपी
अब क्योंकि ये एक हाईप्रोफाइल केस बन चुक था और ऐसे में दिल्ली पुलिस पर ऐसा दबाव आया कि लगभग 700 पुलिसकर्मी इन चोरो को पकड़ने में लगा दिये गये. उन्होंने आस पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिससे उनकी पहचान कर ली गयी और फिर रूट ट्रैक किया गया तो फिर इनका पता भी लग गया. इनमे से मुख्य आरोपी गौरव 21 साल का है और सोनीपत का रहने वाला है. पुलिस ने प्रेस वार्ता करके जानकारी दी कि ये लोग मोदी जी की भतीजी का पीछा लगभग एक किलोमीटर से कर रहे थे और मौक़ा मिलते ही इन्होने लूट की वारदात को अंजाम दे दिया लेकिन अब इन दोनों को पकड़ लिया गया है. केस इतना हाईप्रोफाइल हो गया है कि इन्हें सालो साल जेल में गुजारने पड़ेंगे.

लोग पूछने लगे, हमारा सामान कब मिलेगा? जबसे पुलिस ने इतनी फुर्ती से काम करके दिखाया है तो जिन लोगो के दिल्ली में आये दिन सामन लूटे जा रहे है उन्होंने भी पूछ्ना शुरू कर दिया है कि अगर आपके पास इतनी फुर्ती है तो ये हमारे केस में नजर क्यों नही आती है?