कांग्रेस की बेशर्मी, राजनाथ सिंह के हिन्दू विधि से राफेल पूजा करने पर इस तरह उड़ा रहे मजाक

134

भारत फ़िलहाल बड़ा खुश है और खुश होने के पीछे कारण भी है. एक तो विजयदशमी और इस शुभ अवसर पर फ्रांस ने भारत को विश्व का सबसे आधुनिक विमान राफेल सौंप दिया. इसकी बाकायदा एक सेरेमनी भी आयोजित की गयी और इसके बाद में देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पूरे हिन्दू रीति रिवाज से टीका नारियल नीम्बू आदि से राफेल की शस्त्र पूजा की और उसे वायुसेना के बेड़े में शामिल होने के लिये ईश्वर का आशीर्वाद दिलवाया लेकिन ये बात कांग्रेस पार्टी को बड़ी नागवार गुजरी है और इस पर नेताओं के बड़े उल जलूल बयान आ रहे है.

मल्लिकार्जुन खडगे ने बताया तमाशा तो उदित राज ने अलापा अलग ही राग
कांग्रेस के काफी पुराने और दिग्गज नेता मल्लिकार्जुन खड्गे ने इस मामले पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सब तमाशा करने की क्या जरूरत थी? हमने भी बोफोर्स वगेरह खरीदे लेकिन कोई भी मंत्री वहाँ तमाशा करने के लिये नही गया. वही दूसरी तरफ कांग्रेस के ही नेता उदित राज ने कह कि अगर रक्षा नीम्बू और मिर्च से ही हो जाती है तो फिर राफेल खरीदने की जरूरत क्या थी?

आचार्य प्रमोद ने बताया सेकुलरिज्म के खिलाफ
खुदको बड़े वाले हिन्दू संत बताने वाले प्रमोद कृष्णन ने इस वाकिये को गलत बताया है. वो कहते है कि रक्षा मंत्री हिन्दू है तो हिन्दू तरीके से पूजा कर रहे है, कल को मुस्लिम रक्षा मंत्री होगा तो क्या वो अजान पढेंगे? हमें तो लगता है संविधान से सेकुलरिज्म शब्द ही हटा देना चाहिए. आचार्य प्रमोद के इस बयान पर लोग उन्हें हिन्दू संत का चोगा उतारकर कांग्रेस का ड्रेस कोड पहनने की सलाह देते हुए भी सोशल मीडिया पर नजर आ रहे थे. खैर बात ये भी सही ही है.

वही भाजपा इस पर काफी ज्यादा आक्रामक रूख अख्तियार किये हुए है. बीजेपी की तरफ से कहा गया है कि इन्हें हमारी परम्पराओं और मूल्यों के बारे में कुछ पता नही है तो बोलना भी नही चहिये. वही जनता की बात करे तो जनता की तरफ से इस मसले पर बीजेपी को ही समर्थन मिल रहा है.