हिन्दुओ को खुश करने के लिये सोनिया गांधी ने लिया बड़ा फैसला

437

पिछले कुछ समय से कांग्रेस पार्टी लगातार हार रही है और कही न कही इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण कुछ नजर आता है तो वो भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा है जो पूरी तरह से राष्ट्रवाद से प्रेरित है. भाजपा के लोग खुदको राष्ट्रवादी बताते है और ऐसे में जनता को ये चीज बड़ी पसंद आती है और लोग इससे प्रेरित भी होते है मगर कांग्रेस इस मामले में हाशिये पर चली गयी है और कई लोग तो पूरी पार्टी को ही देशद्रोही कहे से परहेज नही करते है मगर अब कुछ बदलने जा रहा है.

प्रदेश अध्यक्षों की मीटिंग में सोनिया ने सुनाया फैसला, ब्लॉक स्तर पर दी जाये कार्यकर्ताओं को राष्ट्रवाद की ट्रेनिंग
अगले चुनावों पर मंथन करने के बाद में कांग्रेस पार्टी ने एक बड़ा फैसला किया है. प्रदेश अध्यक्षों की मीटिंग में कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा है कि सभी प्रदेश अध्यक्ष अपने अपने राज्यों में जाए. जिले स्तर के नेताओं से कांटेक्ट करे और उनकी मदद से सभी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रवाद के बारे में समझाये, उन्हें इसके बारे में ट्रेनिंग दे. इंदिरा गांधी ने देश के लिए जो भी किया है वो सब उन्हें बताये.

जनता के बीच जाये और उन्हें बताये कि कांग्रेस आजादी के वक्त से देश के साथ में खड़ी है. पाक से कई युद्ध भी लड़े और उन्हें हराने का काम भी किया है. कुल मिलाकर के कांग्रेस पार्टी बस यही कहना चाह रही है कि हम भी राष्ट्रवादी है और वो भी संघ की विचारधारा को फोलो करने की कोशिश कर रहे है जिससे कि जनता उन्हें पहले की तरह गलत समझना छोडकर के उनके बारे में एक नयी राय बनाये. हालांकि ये बहुत ही मुश्किल होने वाला है क्योंकि फ़िलहाल सब कुछ उनके खिलाफ ही खिलाफ है.

अपने कार्यकर्ताओं को इस तरह से पाठ पढ़ाने का काम इस हफ्ते से ही शुरू हो जायेगा और ऐसा होता है तो फिर आपके लिए भाजपा और कांग्रेस की जुबान में फर्क करना ही मुश्किल हो जाएगा. देश में सरकार अब सिर्फ हिन्दुओ के रूख के चलते बनती है और ऐसे में दोनों पार्टियाँ इन्हें अपनी तरफ रखने में जुटी है.