इमरान खान की जा सकती है कुर्सी, पाकिस्तान में तख्तापलट होने के आसार

150

पाकिस्तान में जिस तरह से पिछले सत्तर साल गुजरे है वो किसी से भी छुपा हुआ नही है. ये एक नही कई दफा लोकतंत्र को खत्म किया गया और फिर वहाँ सैन्य शासन लगाया गया. अगर आपको 1992 याद हो तो जब नवाज शरीफ को देश के प्रधानमंत्री पद से हटाकर के तब के सैन्य जनरल परवेज मुशर्रफ ने खुदको पाक का चीफ घोषित कर दिया. कई बार इस तरह की चीजे हुई है पाक में जो इसके लोकतंत्र पर एक नही बल्कि दसो सवाल उठाती है और इस बार एक बार फिर से जनरल बाजवा ने कुछ ऐसे ही संकेत दिए है.

कई फौजियों की छुट्टियां रद्द हुई, बिजनेस घरानों सभी की बाजवा ने मुलाक़ात
अचानक से ही बाजवा के आदेश के बाद में आठवी ब्रिगेड की छुट्टियाँ रद्द कर दी गयी. यही नही इसके अलावा बाजवा ने पाक के दिग्गज उद्योगपतियों से मीटिंग की है. ये सेना का काम नही है लेकिन उन्होंने ये सब किया तो इससे दुनिया भर में कयास लगने लगे है कि पाक में इमरान खान को कुर्सी से उतार दिया जाएगा और फिर बाजवा ही देश की कमान संभालेंगे. ये अपने आप में चौंकाने वाला होने के साथ ही साथ में हास्यास्पद भी है.

आखिर क्या है बाजवा और इमरान के बीच बढ़ रहे तनाव की वजह?
बाजवा की इन हरकतों के पीछे एक नही बल्कि कई कारण है और उनमे सबसे बड़ी वजह बताई जा रहे है इमरान सरकार द्वारा सेना के बजट में की गयी कटौती. पाक पहले से ही आर्थिक संकट में पस्त हो चुका है और ऐसे में सेना को इमरान ज्यादा पैसा नही दे सकते थे. ऊपर से एक कमजोर लीडर साबित होने की वजह से पाक की बेज्जती हो रही है. हर फ्रंट पर इमरान के पस्त होने की वजह से सेना गुस्से में आकर कुछ भी कर सकती है.

हालांकि सफाई देते हुए बाजवा ने सिर्फ इन बातो को गलत करार दिया है मगर कुछ होगा भी तो भी दुनिया से छुपा हुआ तो नही रहेगा. जल्द ही मीडिया और सोशल मीडिया पाक के अंदर हो रहे घटनाकरम की पोल खोलकर के रख देंगे.