सरकार के इन 4 फैसलों ने मंदी की कमर तोड़ दी, सस्ती कर दी इतनी सब चीजे

516

देश में आर्थिक मंदी की आहट काफी समय से सर चढ़कर के बोल रही थी और इससे लोग और उद्योग जगत के लोग ही नही बल्कि सरकार भी परेशान थी क्योंकि इससे झेलना तो सरकार को ही पड़ना था. विपक्ष लगातार हमलावर था क्योंकि उन्हें तो बैठे बिठाये एक बहुत ही बेहतरीन मुद्दा मिल गया जिस पर सरकार को घेरा जा सकता था. अब ऐसे में वित्त मंत्रालय के हाथ में था कि वो इससे किस तरह से डील करते है और उन्होंने बहुत ही बेहतरीन तरीके से इससे डील कर भी ली.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में एक दो नही बल्कि चार बड़े फैसले लिए है और इसके बाद में मंदी की अकड देखते ही देखते निकल गयी, शेयर बाजार ने जबरदस्त तरीके से उछाल लिया और सरकार की उद्योग जगत में वाहवाही होने लगी लेकिन इसकी कीमत सरकार को लगभग डेढ़ लाख करोड़ के घाटे के साथ चुकानी पड़ेगी.

  1. सबसे बड़ी राहत मिली है होटल इंडस्ट्री को जहाँ 1000 रूपये से कम के कमरों पर से जीएसटी बिलकुल हटा ही दिया गया है. वही 7500 से कम के कमरों पर महज 12 फीसदी जीएसटी ही देना होगा जबकि उससे अधिक के कमरे पर 18 फीसदी टैक्स लगेगा जो कि पहले 28 फीसदी तक चला जाता था.
  2. वाहन, समुद्री ईंधन और कई अनमोल रत्नों पर लगने वाला जीएसटी भी अब पहले की तुलना में कम कर दिया गया है जिससे इनकी कीमत कम हो और बिक्री बढ़ सके.
  3. सरकार ने कॉर्पोरेट कम्पनियों पर लगने वाले टैक्स को घटाकर के भी 25.17 फीसदी कर दिया है जिससे कि कंपनियों पर पड़ने वाला करो का अतिरिक्त बोझ काफी हद तक कम हो सका है.
  4. इसके अलावा भी टैक्स भरने, टैक्स न भर पाने या फिर छोटी मोटी गलतियां होने पर रियायते देने का ऐलान किया गया है जिससे उद्योग जगत के लोग काफी ज्यादा खुश है.

सरकार के इन्ही फैसलों ने असर डालते हुए शेयर बाजार में जबरदस्त उछाल पैदा किया है और तो और रूपये भी काफी लम्बे समय के बाद में डॉलर के मुकाबले इतना मजबूत हुआ है जो अपने आप में देखने लायक है.