फलवाले ने भेज दिया रामविलास पासवान को मोम लगा सेव, फिर आयी उसकी ऐसी शामत

539

रामविलास पासवान खाध्य आपूर्ति मंत्री है और मोदी सरकार में भी उनका अच्छा खासा रसूख है जो हम सभी लोग बखूबी जानते ही है मगर इसके साथ में कही न कही वो खाने पीने के मामले में भी अच्छे है इस बात को मानना पड़ेगा, मगर इसकी वजह से किसी की मुसीबत बढ़ जायेगी ये किसी ने भी न सोचा होगा. अभी आपको तो मालूम ही है कि बड़े बड़े लोगो को सारा समान खान मार्किट से ही आता है जो दिल्ली की मशहूर मार्किट है और रामविलास पासवान ने भी अपने लिये सेव वही से मंगवाये.

सेव पर लगा हुआ था मोम, पासवान ने दिये दूकान के खिलाफ जांच के आदेश
रामविलास पासवान को रशियन सलाद बनवाना था जिसके लिए उन्होंने कर्मचारियों को को खान मार्केट की एक नामी दूकान पर सेव लेने के लिए भेजा जहाँ से वो लोग 420 रूपये किलो के भाव पर सेव लेकर के आये. ये काफी महंगा और अच्छा सेव होना मालूम पड़ता है लेकिन पासवान ने इसकी पोल खोल दी. जब उन्होंने इस सेव को देखा तो इस पर माँ की परत लगी हुई थी, ये परत बेचने वाले लोग फलो को चमकाने के लिए लगाते है और ये हानिकारक भी होती है. रामविलास पासवान ने दूकान पर छापा पड़वा दिया और अधिकारियों ने इसकी जांच के भी आदेश दे दिए है.

दूकान मालिक ने कहा, हम ऐसा काम नही करते है
वही दूकान के मालिक ने अपनी तरफ से सफाई देते हुए कहा है कि हम लोग इस तरह के फल नही बेचा करते है. क्वालिटी इंस्पेक्टर ने भी कभी ऐसा कुछ नही देखा है, इस तरह की शिकायत हमें पहली बार आयी है. हमने इसके बाद में वो सारे फल हटवा दिए है जिन पर आपत्ति दर्ज करवाई थी थी. हालांकि इतना सब करने से भी फल के दुकान के मालिक की मुसीबते कम तो नही होने वाली है.

आपको बता दे वैसे फल खुद अपने ऊपर एक वैक्स की परत प्राकृतिक तौर पर छोड़ते है ताकि वे खुदको सरक्षित कर सके और सुन्दर नजर आये लेकिन बाद में दुनिया भर में इसका प्रचलन लोगो ने अपनी तरफ से फलो पर मोम लगाकर के बढ़ा दिया जो अपने आप में स्वास्थ्य के लिए बड़ी चुनौती है.