सोनिया गाँधी के अध्यक्ष बनते ही कांग्रेस में चमत्कार, मायावती को दिया करारा झटका

442

कांग्रेस पिछले काफी लम्बे समय से मुंह के बल गिर रही है और गिरती ही चली जा रही है. इसके पीछे का कारण कही न कही पार्टी की लीडरशिप को बताया गया जो जनता का मूड ही नही भांप सकी. कांग्रेस ने लगातार कई चुनाव हारे और इतने समय से कोई भी अच्छी खबर तो देखने में ही नही आ रही थी मगर अब सोनिया गाँधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के कुछ समय बाद ही एक बड़ी जोर लगाती हुई खबर आयी है जो शायद पार्टी को एक संजीवनी देने का काम करे.

राजस्थान में बसपा के 6 विधायक कांग्रेस में शामिल, शॉक में मायावती
बड़ी खबर ये है कि राजस्थान में बसपा के कुल 6 विधायको ने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली है. बसपा ने गत विधानसभा चुनावो में राजस्थान में कुल 6 सीट्स जीती थी जो एक अच्छा आंकड़ा है लेकिन हाल ही में इन सभी विधायको ने अपने आपको एक अलग विधायक दल बनाकर के कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली है. आपको बता दे प्रदेश में निकाय और पंचायत चुनाव होने जा रहे है जिसके मद्देनजर कांग्रेस ने ये बड़ा कार्ड खेला है.

भड़की मायावती ने बताया कांग्रेस को गैर भरोसेमंद और धोखेबाज
जब मायावती को इस सम्बन्ध में जानकारी मिली तो वो बुरी तरह से तिलमिला गयी और उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा ‘राजस्थान में कांग्रेस ने एक बार फिर से बसपा के विधायको को तोड़कर के अपने गैर भरोसेमंद और धोखेबाज पार्टी होने का प्रमाण दिया है. बसपा के साथ में ये विश्वासघात है, क्योंकि हमारी पार्टी कांग्रेस को वहाँ बिना शर्त बाहर से समर्थन दे रही थी.’

अपने अगले ट्वीट में मायावती लिखती है ‘कांग्रेस अपने विरोधी संगठनों से लड़ने की बजाय हमेशा उन पार्टियों को आघात पहुंचाने की कोशिश में रहती है जो उन्हें समर्थन देते है या फिर सपोर्ट करते है. कांग्रेस एससी एसटी और ओबीसी विरोधी पार्टी है जो कभी इनके हक में नही रही.’ मायावती में फ़िलहाल काफी ज्यादा तिलमिलाहट है लेकिन उससे क्या फर्क पड़ता है? सोनिया एंड पार्टी को जो करना था वो तो उन्होंने कर लिया.