प्रधानमंत्री मोदी ने इसरो चीफ के कान में क्या कहा था? मालूम चल गया

333

इसरो अपने आप में एक बहुत ही बड़े मिशन के साथ ही साथ में काफी तनाव भरे समय से गुजर रहा है क्योंकि ऑर्बिटर को तो उसे कण्ट्रोल करना ही है और साथ ही साथ में उससे मिलने वाले डाटा को सुलझाकर के चाँद की जटिलताओ को देश के सामने रखना है. इसके अलावा उन्हें विक्रम लैंडर से भी संपर्क बिठाने का प्रयास करना है जो हो नही पा रहा है और अब इसके लिए महज 6 दिन बच रहे है. खैर अब आते है उस बात जो खासी महत्त्वपूर्व है कि जब लैंडर में हुई गड़बड़ी का मालूम चला तो पीएम ने क्या कुछ कहा था?

गले लगाकर दिया था इसरो चेयरमेन को दिलासा, हिम्मत न हारने को भी कहा
लैंडिंग से ठीक पहले भी पीएम इसरो के ऑफिस में ही मौजूद थे और जब पता चला लैंडिंग असफल रही है और सम्पर्क टूट चुका है तो पीएम ने तुरंत कहा हिम्मत मत हारो, सब ठीक होगा. इसके बादमें वो सवेरे भी के सिवन से मिले और तब वो उनसे गले मिले और उन्हें दिलासा देने लगे. ये देख सिवन भी बिलकुल रोने को आ गये.

प्रधानमंत्री मोदी गले लगाकर के बोले आपको हिम्मत नही हारनी है सब कुछ ठीक होगा. उम्मीद ख़त्म मत करे. सिवन बताते है कि पीएम मोदी के शब्द अपने आप में बेहद ही हौसला बढाने वाले थे. उनके इसी सपोर्ट से हमें आगे भी काम करने के लिये जज्बा मिलता है क्योंकि वो हमारे बॉस है. इसरो प्रधानमंत्री के अंडर में ही आता है और वही से नियंत्रित होता है इसलिए हमारा उनसे ख़ास जुड़ाव है और जब पीएम खुद इस तरीके से साथ देते है तो वो एक अच्छा अनुभव है जो के सीवन बताते है.

बात करे आगे के मिशन की तो इस पर के सिवन बताते है कि अभी तक डिसाइड नही किया गया है कि चंद्रयान-3 होगा या नही होगा? क्योंकि आगे के मिशन अभी मिलने वाले डाटा के आधार पर तय किये जाते है जो अभी जुटाये जाने बाकी है. उम्मीद है इसरो इससे भी अच्छा करके दिखायेगा.