मोदी जी ने कर दिया है ऐसा इंतजाम, चोर आपका फोन चोरी करने से पहले 5 बार सोचेगा

1206

देश भर में फ़िलहाल फोन की चोरी के बहुत ही बड़ी और आम समस्या हो गयी है. आये दिन हम इस तरह की खबरे सुनते रहते है जिनमे मालूम चलता है कि किसी न किसी का फोन चोरी हो गया है और ये अपने आप में दुःख भरा होता है. ख़ास तौर पर राह चलते लोगो से फोन की छीना झपटी तो कुछ ज्यादा ही हो गयी है. इसके चलते लोग काफी ज्यादा नाराज भी रहते है और दिन ब दिन फोन चोरी की शिकायते भारी मात्रा में दर्ज हो रही है. ऐसी स्थिति में सरकार ने कुछ ख़ास निर्णय लिया है.

भारत सरकार की तरफ से एक ख़ास पोर्टल लांच किया गया है और एक टेलिकॉम डिपार्टमेंट का नम्बर 14422 भी जारी किया है. आपको फोन चोरी होते ही पूरी घटना की जानकारी तुरंत ही इस नम्बर पर देनी है और पोर्टल पर शिकायत भी दर्ज करवा देनी है. सबसे पहला सवाल ये है कि आपको मुख्य तौर पर क्या जानकारी देनी होगी?

तो वही जो आप केस दर्ज करवाते हुए देते है. आपको अपनी पहचान, फोन से जुडी जानकारी, घटना स्थल की जानकारी और ख़ास तौर पर फोन का IMEI नम्बर भी देना है. जब आप ये सब देंगे तो इस पर तुरंत कार्यवाही करते हुए फोन की लोकेशन ट्रेस होगी और साथ ही साथ में फोन का IMEI नम्बर भी ब्लाक कर दिया जाएगा. कोशिश यही की जायेगी कि उसे पकड़ लिया जाये मगर अगर ऐसा नही हो पाता है तो फोन का IMEI नम्बर तुरंत ब्लाक होने से वो चोर उस फोन का इस्तेमाल ही नही कर पायेगा क्योंकि इसके बाद में वो फोन सिग्नल रिसीव नही कर सकेगा जिसके चलते वो सिर्फ एक खोखला डिब्बा बनकर के रह जाएगा.

कहा जा रहा है कि ऐसी टेक्नोलॉजी भी लाई जा रही है जिससे बदले हुए IMEI नम्बर की पहचान करके भी उन्हें बंद किया जाना संभव होगा और अगर ये हो जाता है तो आम जनता के फोन ही चोरी होना बंद हो जायेंगे. अभी ये सेवा सिर्फ महाराष्ट्र में दी जा रही है और जल्द ही पूरे देश में भी इसका विस्तार किया जाएगा.