अब योगी आदित्यनाथ ऐसा काम करने जा रहे है, जो नितिन गडकरी को बिल्कुल पसंद नही आयेगा

1612

अभी फ़िलहाल में नितिन गडकरी ने देश में ट्राफिक नीति को लेकर के बहुत ही बड़ा बदलाव किए है. नितिन गडकरी ने मोटर व्हीकल एक्ट 2019 लाया जिसने चालान की कीमतों को रातो रात आसमान पर पहुँचा दिया है और इस वजह से लोगो के 50 हजार से 1 लाख रूपये तक के भी चालान कट रहे है जो अपने आप में हैरान और परेशान कर देने वाला है. खैर अभी तो आते है हम इस पर उठे विरोध के स्वर पर जिनमे एक नाम फ़िलहाल यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी आ रहा है जिन्हें ये बदलाव रास नही आया.

यूपी में नही कटेंगे गडकरी के बताये भारी भरकम चालान, जुर्माने की राशि में बदलाव की तैयारी में योगी
यूपी के सीएम और वहाँ की सरकार तैयारी में है कि जो भी जुर्माने की राशि इस एक्ट में बढाई गयी है उसे कम कर दिया जाये क्योंकि इससे जनता को परेशानी हो रही है और भाजपा के प्रति लोगो की नाराजगी भी बढ़ रही है, इससे आने वाले चुनावों में भी नुकसान उठाना पड़ सकता है. जल्द ही उत्तर प्रदेश इन चालान की राशियों को घटाने जा रहा है.

क्या कहते है स्वतंत्र प्रभाव परिवहन मंत्री अशोक कटारिया?
अशोक कटारिया कहते है कि उत्तर प्रदेश में कई ऐसी घटनाएं सामने आयी है जिनमे मनमाने ढंग से चालान किया जा रहा है. लोग इसका विरोध कर रहे है. जो भी फैसला जनता के हित में होगा वही ही लिया जाएगा. लोग बताते है कि चालान की बढ़ी रकम से चालान काटने वाले कर्मियों की मनमानी बढ़ गयी है और इससे घूसखोरी में भी इजाफा हुआ है जो अपने आप में एक चिंता का विषय है.

शुरू में तो गडकरी इन नियमो में हो रहे बदलाव को लेकर के काफी ज्यादा कड़क नजर आ रहे थे लेकिन जब उनके ही अपने बीजेपी शासित राज्य महाराष्ट्र और गुजरात आदि इसके विरोध में उतर रहे है तो उन्होंने कह दिया कि अगर राज्य सरकारे चाहे तो अपनी पॉवर का इस्तेमाल करके इन जुर्मानो की राशि को कम कर सकती है और संसोधन ला सकती है.