आजम की मुश्किलें और बढ़ी, नायब तहसीलदार ने दर्ज करवाया उनके परिवार के खिलाफ मुकदमा

290

फ़िलहाल के दिनों में आजम खान इतनी मुश्किलों में घिर चुके है जिनका कोई पार ही नही है और ये बात कही न कही सच भी है क्योंकि खुद आजम के खिलाफ 80 से ज्यादा केस दर्ज हो चुके है और इन पर जांच चल रही है. आजम खान के रिसोर्ट पर कभी बिजली चोरी तो कभी जमीन हड़पने के आरोप लग रहे है तो कभी उनकी जौहर यूनिवर्सिटी का निर्माण शक के दायरे में आ रहा है और ये सब क्या कम था कि उनके खिलाफ एक और केस फिर से दर्ज हो गया है.

नायब तहसीलदार ने दर्ज करवाया मुकदमा, सरकारी सम्पति के नुकसान का मामला
रामपुर के जिला अधिकारी बताते है कि फ़िलहाल की जो एफआईआर है वो ग्राम समाज की जमीन पर दीवार खड़ी करके वहाँ पर रिसोर्ट के लिए गलत तरीके से जमीन लेने के खिलाफ करवाई गयी है. आजम खान, उनकी पत्नी फातिमा, बेटे अब्दुल्ला और बड़े बेटे अदीब पर भी धारा 447 और सार्वजनिक सम्पति के नुकसान की धरा 2 और 3 के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और ये मुकदमा करवाने वाले नायब तहसीलदार कृष्ण गोपाल मिश्र है. इस केस में आजम खान को बड़ी परेशानी खड़ी होने वाली है.

पहले से दर्जनों मुकदमे झेल रहे है आजम
आजम खान के साथ में ये कोई पहली दफा नही हो रहा है. वो शुरू से ही दर्जनो मुकदमे झेल रहे है. उन पर माफिया होने का, लोगो को धमकी देकर उनकी जमीन हडपने का, जयाप्रदा के खिलाफ गलत टिपण्णी करने का, भैंस चोरी करने का, किताबे चोरी करने का, यूनिवर्सिटी के लिए गलत तरीके से सरकारी जमीन हड़प करने का और कई सारे आरोप है जिनके जाल में वो फंस चुके है और निकलना काफी मुश्किल है.

हालांकि आजम बार बार यही दलील देते है कि सत्ता पक्ष उनसे बदला ले रहा है, वो मुस्लिम कार्ड खेलते हुए कहते है कि उन्हें इस वजह से तंग किया जा रहा है क्योंकि वो मुस्लिम है और तो और एक बार तो वो अपने पूर्वजो के भारत में रहने के फैसले को भी गलत ठहरा चुके है.