चिदम्बरम ने जमानत के लिये दायर की थी हाईकोर्ट में याचिका, फैसला आ गया

1294

पी चिदम्बरम इन दिनों में अपने बड़े ही बुरे दौर से गुजर रहे है और आये दिन उन्हें तरह तरह की मुसीबतों का भी सामना करना पड़ रहा है जिससे हम सभी लोग वाकिफ ही है लेकिन हाल ही में जो उनके साथ में हुआ है वो उनके अंजर पंजर अन्दर से हिला दे रहा है. सीबीआई कोर्ट ने चिदम्बरम को तिहाड़ जेल भेज दिया है और अभी वो न्यायिक हिरासत में रखे गये है और उन्हें वहाँ से निकालने की भी हर कोशिश की जा रही है मगर कही भी काम बनता नजर नही आता.

दिल्ली हाई कोर्ट ने किया जमानत देने से इनकार, निराश होकर लौटे चिदम्बरम 
चिदम्बरम को मिली न्यायिक हिरासत के निचली अदालत के फैसले को उनके द्वारा दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी गयी जहाँ पर उनकी तरफ से कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी और सलमान खुर्शीद जैसे बड़े और दिग्गज वकील मौजूद रहे. उन्होंने तमाम दलीले दी लेकिन हाईकोर्ट ने जमानत देने से साफ तौर पर इनकार कर दिया. हालांकि उन्होंने इस सम्बन्ध में सीबीआई को नोटिस देकर के अपनी तरफ से जवाब जरुर माँगा है.

चिदम्बरम को घर खाना का खाना तक नही होगा नसीब, हाईकोर्ट ने किया इनकार
जब जमानत खारिच हो गयी तो सिब्बल की तरफ से कहा गया कि कम से कम उन्हें घर का खाना तो देने दिया जाये. इस पर हाईकोर्ट ने सख्त होते हुए कहा वो अभी बिलकुल स्वस्थ है और उन्हें खाना देकर के हम दूसरो के साथ में भेदभाव नही कर सकते है. चौटाला की उम्र भी 80 साल है और वो जेल में बंद है लेकिन वो जेल का ही खाना खाते है. इसी के साथ में चिदम्बरम की आखिरी उम्मीद भी छन्न से टूट गयी.

खैर अभी भी कोशिश की जा रही है. जब तक चिदम्बरम दोषी साबित नही होते है तब तक उन्हें निकालने की दर्जनों कोशिशे की जा सकती है. बाकी कोर्ट की मर्जी पर है लेकिन जिस तरह से वो मुख्य आरोपी के रूप में उभर रहे है उसके बाद में उनके जेल से बाहर आने की संभावना कम नजर आती है.