सुब्रमण्यम स्वामी ने की मांग, इस कांग्रेसी प्रधानमंत्री को दिया जाये भारत रत्न

505

भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी अपने अलग ही किस्म के विचारों के लिए विख्यात माने जाते है. उनके पास में अपने तजुर्बे के साथ ही साथ में कई बड़े बड़े राजनेताओं के राज भी है ऐसा माना जाता है. ऐसा इसलिये है क्योंकि वो दोनों ही पार्टियों के हाईकमान के नजदीक रहे ही और दोनों ही की राजनीति को उन्होंने करीब से देखा है. वो सही को सही और गलत को गलत कहने के लिये जाते है. फ़िलहाल के समय में कांग्रेस के सबसे बड़े आलोचक रहे स्वामी जी ने एक अनोखी मांग उठा दी है.

सुब्रमण्यम स्वामी की मांग, पी वी नरसिम्हा राव को मिले भारत रत्न
स्वामी जी का कहना है कि कांग्रेस पार्टी की तरफ से 1991 में देश के प्रधानमंत्री बने पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न दिया जाना चाहिये. आपको बता दे वो उन चुनिन्दा नेताओं में से एक रहे है जो गैर गांधी होते हुए भी कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री बने. स्वामी जी ने कहा ‘नरसिम्हा राव ने न सिर्फ केवल आर्थिक सुधार किये बल्कि संसद में कश्मीर पर एक प्रस्ताव भी पारित किया. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट को ये भी बताया कि विवादित भूमि पर पहले मंदिर था. जिस पर बाद में बाबरी का निर्माण किया गया है तो सरकार जमीन हिन्दुओ को दे देगी.’

आजादी से पहले की पैदाइश, बने गैर गांधी कांग्रेसी प्रधानमंत्री
पी वी नरसिम्हा राव का जन्म 1921 का है, वो तेलंगाना से आते थे और उन्होंने वकील के तौर पर अपने जीवन की शुरुआत की थी. कांग्रेस में रहते हुए उन्होंने काफी बढ़िया प्रदर्शन किया, हालांकि गांधी परिवार से उनकी अनबन की खबरे भी आती रही. उन्होंने देश के प्रधानमंत्री के तौर पर भी काम किया और इस दौरान उन्हें कई आर्थिक सुधार करने के लिये सराहा भी जाता है. सन 2003 में उनका देहांत हो गया था.

गौरतलब है कि खुद पीएम मोदी भी राव के नाम का इस्तेमाल अपने भाषणों में कांग्रेस पार्टी के खिलाफ करते रहे है और ऐसे में अब अगर उन्हें भारत रत्न देने की बात बीजेपी करती है तो कांग्रेस के लिए आगे कुआ और पीछे खाई वाली बात हो जायेगी.