बाज नही आ रहे ट्रम्प, फिर दिया भारत पाकिस्तान पर परेशान करने वाला बयान

224

डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिकी राष्ट्रपति के पद पर है और ये बात सभी जानते है और मानते भी है कि ये पद फ़िलहाल में विश्व के सबसे शक्तिशाली पद के तौर पर जाना जाता है और बड़े बड़े देशो के बीच सुलह से लेकर झगडे करवाने तक इसी पद की भूमिका रहती है लेकिन इन सबको परे रखकर भारत अपने मामले खुद सुलझाने की काबिलियत रखता है और इस बात में कोई शक भी नही है लेकिन बार बार आदत से मजबूर होकर के एक बार फिर से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फिर से वही बात कही है जिसका भारत शुरू से विरोध कर रहा है.

डोनाल्ड ट्रम्प करना चाहते है दोनों देश के बीच मध्यस्थता, ताकि तनाव कम हो
इस तरह का प्रस्ताव अमेरिकी राष्ट्रपति लगातार चौथी बार रख रहे है जब उन्होंने भारत पाक के बीच में मध्यस्थता की बात कही है. ट्रम्प ने कहा ‘मुझे दोनों ही देशो का साथ बड़ा अच्छा लगता है. अगर वो चाहे तो मैं उनकी मदद कर सकता हूँ. वो लोग भी जानते है कि उनके सामने ये प्रस्ताव रखा हुआ है. आप जानते है कि भारत और पाक के बीच में टकराव है लेकिन मेरा मानना है कि पिछले दो हफ्ते में इसमें काफी कमी आयी है.’

भारत पहले ही साफ़ कर चुका है रूख, खुद मोदी ने ट्रम्प को समझाया था
भारत के विदेश मंत्रालय ने पहले ही आधिकारिक बयान जारी करने कहा था कि पाक और भारत के बीच में जो भी मसला है वो बिलकुल द्विपक्षीय है चाहे वो कश्मीर हो या कुछ और हो. यही नही अपनी डोनाल्ड ट्रम्प से बातचीत में भी पीएम मोदी ने ट्रम्प से कहा था ‘हम पाकिस्तान के साथ में मामले सुलझा लेंगे और इसके लिए हम किसी भी तीसरे देश या आदमी को कष्ट देने के बारे में सोचते तक नही है.’

इतना सब कुछ होने के बाद में भी ट्रम्प समझने को तैयार नही है और वो बार बार मध्यस्थता पर आकर के अटक जाते है. हालांकि सभी जानते है कि भारत इसके लिये कभी भी राजी नही होगा क्योंकि पाक से जितनी बार भी बातचीत हुई है, उनके परिणाम शून्य ही निकले है.