खुद परिवहन मंत्री गडकरी का भी कट चुका है चालान और भरना पड़ा जुर्माना, जानिये ऐसा क्या हुआ?

170

इन दिनों लोग थोड़े से गुस्से में है और सरकार से खफा भी नजर आ रहे है क्योंकि मोदी सरकार ने और ख़ास तौर पर इसमें परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का रोल रहा है जिन्होंने मोटर व्हीकल एक्ट 2019 लागू कर दिया है. अब ये क़ानून अपने आप लोगो की सुरक्षा के लिए है लेकिन जिस तरह से जुर्मानो की रकम बढ़ी है वो भी कई गुना उसे भर पाने में आम आदमी तो असमर्थ है मगर लोगो की ये शिकायत भी रहती है कि ये क़ानून तो सिर्फ आम आदमी के लिये है. मगर ऐसा नही है.

खुद परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी भरा था जुर्माना, ओवरस्पीडिंग करने पर मिली सजा
नितिन गडकरी ने खुद ही इस बारे में जानकारी दी और बताया कि वो एक बार मुंबई के बांद्रा वर्ली सी लिंक से जा रहे थे जिसे मुंबई की शान भी कहा जाता है. वहाँ पर उनके वाहन से ओवरस्पीडिंग की गयी थी जिसके चलते उनका चालान कटा था और उन्हें जुर्माना भरना भी पड़ा था. इसके जरिये कही न कही वो लोगो को भरोसे में लाने की कोशिश कर रहे है कि क़ानून जो भी बने है वो सबके लिये बराबर है.

मगर लोग है कि मानने को तैयार नही
परिवहन नितिन गडकरी अपनी बात पर पूरी तरह से अड़ चुके है और उनका कहना है कि चालान भरना ही पड़ेगा जबकि लोग इसके बाद में बौखला गये है. भुवनेश्वर में एक ऑटो चालक ने चालान से बचने के लिये पुलिसकर्मी पर अपनी गाडी चढ़ा दी तो एनसीआर में एक व्यक्ति की बाइक का अधिक चालान होने पर उसने गुस्से में आकर के अपनी बाइक को बीच सड़क पर ही आग लगा दी. इस तरह के किस्सों के चलते गडकरी मामले और हालातो को काबू में लेने की कोशिश तो कर ही रहे है क्योंकि जनता को साथ में लेना ही सबसे जरूरी कड़ी है.

नितिन गडकरी का अगर चालान कट सकता है तो इसका मतलब किसी का भी कट सकता है और ये नियम कायदे सभी के लिए एक से ही बने है और इसे ही असल में लोकतंत्र कहा जाता है जो सभी के लिए एक सा है.