बच्चे ने पीएम से पूछा ‘मैं भी राष्ट्रपति बनना चाहता हूँ’, ये था मोदी का जवाब

262

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बच्चो से जो कनेक्शन है वो अपने आप में काफी ज्यादा भावुकता से भरा हुआ है और ये बात हम सभी लोग जानते है. अक्सर प्रधानमंत्री बच्चो के साथ खेलते, उनके साथ अठखेलियाँ करते, उनके कान मरोड़ते तो कभी हंसी ठिठोली करते हुए नजर आते रहते है. अभी हाल ही में ही ऐसा ही कुछ मजाक करते हुए पीएम मोदी एक बार फिर से नजर आये जब वो इसरो की कामयाबी देखने आये देश भर के बच्चो से मिल रहे थे और तभी एक बच्चे ने उनसे अनोखा सा सवाल पूछ लिया.

चंद्रयान 2 की लैंडिंग देखने पहुंचे बच्चे ने किया था सवाल
देश भर से जुटे बच्चो ने इसरो के चंद्रयान टू को लेकर के काफी सपने संजोये थे. हालांकि वो पूरे नही हुए लेकिन फिर भी गर्व तो है ही मेहनत पर. इन सबके बीच पीएम मोदी भी वहाँ पर पहुंचे थे और बच्चो से भी मिले. इसी बीच एक बच्चे ने उनसे कह दिया कि वो इस देश का राष्ट्रपति बनना चाहता है. अब ये सवाल कहिये या उसके मन की बात कोई भी होता तो उसका मजाक उड़ा देता लेकिन पीएम ने इसका अलग ही अंदाज में जवाब दिया.

प्रधानमंत्री मोदी ने पहले तो बच्चे की पीठ थपथपाई और कहा ‘राष्ट्रपति क्यों बनना चाहते हो? प्रधानमंत्री क्यों नही बनना चाहते?’ प्रधानमंत्री मोदी के इस जवाब को सुनकर के बच्चो के अन्दर हंसी की लहर दौर पड़ी मगर ये जवाब अपने आप में काफी ज्यादा महत्त्वपूर्ण है क्योंकि राष्ट्रपति उतना शक्तिशाली नही होता जितना प्रधानमंत्री होता है इसलिए पीएम बच्चो को समझा रहे है तुम शक्तिमान नही बल्कि सर्वशक्तिमान बनो और उसके सपने देखो और उन इच्छाओं के लिए मेहनत करो प्रयत्न करो. ये चीजे कही न कही बच्चो और पीएम के बीच में एक कनेक्शन स्थापित करती है.

खुद नरेंद्र मोदी भी एक मामूली सरकारी स्कूल से पढ़े है और उन्होंने वहाँ से शिक्षा हासिल की और स्टेशन पर चाय भी बेचीं. ये सब करते हुए उन्होंने संघ के माध्यम से राजनीति में प्रवेश किया और आज देश के प्रधानमंत्री के पद पर है. अगर वो कर सकते है तो कोई भी कर सकता है बस जज्बे की जरूरत है.