आखिरकार घुटनों के बल आया पाकिस्तान, लिया भारत को लेकर ये फैसला

340

जबसे भारत ने जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाने और वहाँ से अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला लिया तब से ही पाक लगातार तरह तरह की उटपटांग हरकते कर रहा था. कभी पाक कहा है हम भारत के खिलाड़ लड़ाई छेड़ देंगे, कभी व्यापार बंद कर देता है तो कभी समझौता एक्सप्रेस बंद कर देता है. ये सब नाटक लगभग एक महीने तक चला है और इतना समय बीतने के बाद ये सब ड्रामेबाजी होने के बाद में आखिरकार एक बार फिर से पाकिस्तान लाइन पर आ गया है और भारत से व्यापार की शुरुआत कर दी है.

पाक ने फिर शुरू किया जीवनरक्षक दवाईयों का आयात
पाकिस्तान दवाईयों के मामले में भारत पर काफी हद तक निर्भर हो चुका है और जब से भारत से पाक ने व्यापार बंद किया है तब से पाक में दवाइयां भी नही पहुँच रही है जिसके चलते लोगो की जान तक चली गयी. अब ऐसी गंभीर परिस्थितियों को देखते हुए अब आखिरकार पाक को झुकना ही पड़ा है और पाक के वाणिज्य मंत्रालय ने एक आर्डर जारी करके भारत से दवाइयां खरीदने की रिक्वेस्ट को पूरी तरह से मंजूरी दे दी है.

भारत पाक को दवाइयां बेचकर के अरबो रूपये कमाता है
भारत के लिए पाक दवाईयों के मामले में काफी बड़ा बाजार है. एक रिपोर्ट के अनुसार अभी इसी वर्ष में जनवरी से जुलाई के बीच में ही पाक को भारत ने पूरे 1 अरब 36 करोड़ रूपये की दवाइयां बेच दी  जो अपने आप में एक अच्छा अमाउंट ही कहा जाएगा. अब सबसे बड़ी बात ये है कि पाक चाहकर के भी इस व्यापार को भारत से बंद नही कर पायेगा क्योंकि लोगो की जान बचाने के लिए उसे भारत के सामने झुकना ही होगा.

अंदाज लगाया जा रहा है कि जिस तरह से मेडिकल सेक्टर में पाक झुका है वैसा ही कुछ सब्जियों, अनाज और बाकी क्षेत्रो में भी होगा जब पाक में इन चीजो की कीमते आसमान छुएगी तब उनकी आपूर्ति के लिए उसे भारत के अलावा और कोई भी ऑप्शन नजर नही आएगा. इस तरह से पाक पूरी तरह से बेबस नजर आ रहा है.