भारत से बातचीत करना चाहता है पाकिस्तान, बोला ‘मोदी जी ये शर्ते पूरी करो तो बात करेंगे’

332

हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के बीच में माहौल किस तरह का है? ये बात तो हम सभी लोग जानते ही है और कही न कही दोनों के ही बीच में इस माहौल का जिम्मेदार भी पाक ही रहा है. इस बार तो कश्मीर पर भारत के एक्शन के बाद से ही पाक तिलमिलाया हुआ है इस बात में कोई भी शक नही है मगर जब धमकियां काम नही आयी, किसी विदेशी नेता ने समर्थन नही किया तो फिर पाक दुबारा से बातचीत की टेबल पर आने की बाते कर रहा है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने की भारत के साथ टेबल पर आकर बातचीत की वकालत
हमेशा ही मोदी सरकार से भोंहे तानकर बात करने वाले पाक के विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान ने भारत के साथ में संवाद से कभी भी मुंह नही मोड़ा है, लेकिन भारत का जो फ़िलहाल में माहौल है वो बातचीत के लिए अनुकूल नजर नही आता. हालांकि अब जब पाक फिर से घुटनों पर आ गया है तब भी उसने अपना एजेंडा नही छोड़ा है और वो फिर से वही बाते दोहराने में लग गये.

भारत के लिये बिना पूछे शर्ते भी रख दी
हालांकि भारत पाक से बात करने में दिलचस्पी  भी नही दिखा रहा है लेकिन कुरैशी ने कहा कि अगर भारत को हमसे बात करनी है तो उसे कश्मीर के सभी नेताओं को रिहा करना होगा, वहाँ से कर्फ्यू हटाना होगा और मुझे उनसे मिलने देना होगा. हम कश्मीरियों की भावनाओं को नजरअंदाज किये बिना कभी भी टेबल पर नही बैठ सकते है. अब जिस तरह से कुरैशी इशारो इशारों में भारत को बात करने के लिये मनाने की कोशिश कर रहे है वो पूरी दुनिया देख रही है.

आखिर ऐसा कैसे हुआ?
कुछ समय पहले लड़ने की बात करने वाला पाक अचानक वार्ता की बाते क्क्यो करने लगा? सभी को अजीब तो लगा लेकिन ये सच है क्योंकि पाक को किसी भी अन्य बड़े देश से समर्थन नही मिल रहा है और यूएन में भी वो फेल हो चुका है जिसके चलते अब अगर कुछ बात करनी है तो डायरेक्ट भारत से ही संभव है.