चिदम्बरम को लगे बैक टू बैक दो बड़े झटके, इसके बाद बढ़ जायेगी मुश्किले

448

पी चिदम्बरम अपने आप में काफी ज्यादा बड़ा नाम है और कभी तो वो इस देश के वित्त मंत्री और गृह मंत्री जैसे बड़े बड़े पदों पर रहे है जो उनके रसूख को कई गुना बढ़ा देता है लेकिन आप कितने ही बड़े क्यों न रहे हो? कर्म आपका पीछा नही छोड़ते है और ऐसा ही कुछ इन दिनों चिदम्बरम के साथ में भी हो रहा है. राउत एवेन्यू कोर्ट ने उन्हें सीबीआई की हिरासत में भेज दिया है जहाँ पर उनसे पूछताछ की जा रही है, मगर ये सब क्या कम था कि दो और मुसीबते आन पड़ी.

चिदम्बरम की हिरासत 30 तारीख तक और बढ़ी
पी चिदम्बरम को पहले जब राऊत एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया था तो कोर्ट ने सीबीआई को 27 तारीख तक का वक्त दिया था जिसके अन्दर उन्हें पूछताछ करनी थी लेकिन मामले की गंभीरता को देखते हुए चिदम्बरम की हिरासत को और भी ज्यादा बढ़ा दिया गया है. अब चिदम्बरम की रिमांड को 30 तारीख तक बढ़ा दिया गया है, यानी अभी तीन दिन और अन्दर रहना पड़ेगा. संभव है आगे ये हिरासत और भी ज्यादा कर दी जाये.

पी चिदम्बरम को आईएनएक्स घोटाले में नम्बर वन का आरोपी बनायेगी जांच एजेंसी
अब सीबीआई इस बात की तैयारी में है कि वो चिदम्बरम को इस पूरे घोटाले में सबसे नम्बर वन का यानी मास्टरमंद बनाने की तैयारी में है. यानी आगे से जो भी साक्ष्य जुटाए जायेंगे, बयान दर्ज होंगे या फिर फाइलिंग वगेरह होगी तो फिर वो चिदम्बरम को मास्टरमाइंड मानकर के ही होगी और ये अपने आप में बहुत ही बड़ा झटका चिदम्बरम के लिए तो है. इससे उनके दोस्त सिब्बल भी उन्हें तरह तरह की दलीले देकर के नही बचा पा रहे है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे अभी हाल ही में चिदम्बरम ने कुछ आईएएस अधिकारियो पर अपनी गलतियों का ठीकरा फोड़ने की कोशिश भी की है. इसके बाद में वो भी जांच के दायरे में आ जाते है और संभव है जल्द ही सीबीआई उनसे भी इस मामले में पूछताछ करे.