सोनिया गांधी ने दिया ममता को बड़ा झटका, लोग बोले ‘अब मोदी के कुछ किये बिना ही टीएमसी खत्म’

1002

इन दिनों में देश भर में एक अलग किस्म का माहौल बना हुआ है जहाँ पर सभी दल कही न कही भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिये एक साथ आ रहे है. ऐसे में कांग्रेस भी अपना महत्त्व रखती है और टीएमसी भी बंगाल तक तो रखती ही है. जिस तरह से ममता ने महागठबंधन जैसी बड़ी बड़ी बाते की थी इसके बाद लगा था कि उनका कांग्रेस के साथ में भविष्य हो सकता है लेकिन सोनिया गांधी ने हाल ही में जो फैसला टीएमसी के खिलाफ लिया है उसने सारी संभावनाओं पर रोक लगा दी है.

कांग्रेस ने किया वामदलों से गठबंधन का फैसला, टीएमसी के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव
आने वाले बंगाल विधानसभा चुनावों में कयास लग रहे थे कि टीएमसी और कांग्रेस एक साथ चुनाव लड़ सकते है लेकिन ऐसा हुआ नही. हाल ही में कांग्रेस ने एक फैसले को सोनिया गांधी की तरफ से मंजूरी मिल गयी है जिसके तहत अब वो बंगाल के चुनावों में लेफ्ट पार्टियों के साथ मिलकर के चुनाव लड़ेंगे. पहले टीएमसी का विचार था लेकिन अब कांग्रेस और लेफ्ट मिलकर के चुनाव लड़ेंगे और अपना जोर आजमाएंगे.

इससे सीधे तौर पर होगा भारतीय जनता पार्टी को फायदा
बंगाल की राजनीति में जो भूचाल कांग्रेस के इस फैसले से आने जा रहा है उसका अंदाजा सभी को हो चला है क्योंकि कांग्रेस और लेफ्ट सीट्स तो कम ही जीत पायेगा लेकिन ये वो वोट होंगे जो टीएमसी के टूटेंगे क्योंकि कांग्रेस तो राष्ट्रीय स्तर पर बीजेपी की विरोधी है और ऐसे में बीजेपी के वोट तो टूटकर कांग्रेस में जाने से रहे लेकिन जो लोग टीएमसी राज से परेशान हो गये है वो एक बार के लिये लेफ्ट और कांग्रेस गठबन्धन की तरफ रूख जरुर कर सकते है और इससे सीधा सीधा फायदा भाजपा को ही होगा.

इसे एक तरीके से ममता को जवाब की तरह देखा जा रहा है क्योंकि ममता बनर्जी ने राहुल गांधी को जयादा तरजीह नही दी थी और वो उनके एक्सपीरियंस को भी नाकाफी मानती है जिससे कांग्रेस को बुरा भी लगता है और  सभवतः इसी वजह से अब सोनिया गांधी ने ये फैसला लिया है.