जब सुनवाई के दौरान जज ने चिदम्बरम को कुर्सी पर दी, देखिये क्या जवाब मिला?

1076

कभी देश के वित्त मंत्री और गृह मंत्री जैसे बड़े बड़े पदों पर रहे चिदंबरम इन दिनों बहुत ही भारी मुसीबतों से घिरे हुए है और इस बात में कोई शक भी नही है. अपने किये हुए कामो पर दिक्कते तो आनी ही है लेकिन ये दिक्कते इस हद तक बढ़ गयी जो उन्हें जेल की सलाखों तक ले जाने के लिये भी तत्पर नजर आती है. अगर आपको मालूम हो तो सीबीआई ने 21 अगस्त देर रात को उन्हें उनके बंगले से दीवार कूदकर के गिरफ्तार कर लिया और अगले दिन जज के सामने उन्हें पेश किया गया.

पेशी के दौरान उम्र का लिहाज करते हुए ऑफर की गयी थी कुर्सी
जब पी चिदम्बरम को सुनवाई के लिए लाया गया तो उन्होंने कुछ खा भी नही रखा था और ऐसे में उनकी उम्र भी ज्यादा है तो कमजोरी तो आनी ही है. कोर्ट ने उनकी हालत को देखते हुए उन्हें कुर्सी ऑफर की ताकि वो बैठकर के सुनवाई को पूरा कर सके. इसके जवाब में चिदंबरम ने कहा नही धन्यवाद मुझे इसकी जरूरत नही है. इसके बाद में आगे की सुनवाई शुरू हुई.

ऐसी हालत में भी मजाक करते रहे चिदम्बरम कोर्टरूम में भी चिदम्बरम मजाक करने से बाज नही आये. जब वो कोर्ट में थे तो उन्होंने उसे देखकर के कहा मुझे लगा कोर्टरूम थोडा बड़ा होगा. अब इस तरह के मजाक के पीछे उनकी मंशा क्या थी? ये तो वो ही जानते है लेकिन सुनवाई के दौरान उन्होंने और उनके वकीलों ने कुछ इसी तरह से ही जवाब देने की कोशिश की. वो सीबीआई के सवालो को भी पुराना और घिसा पिटा बता रहे थे, हालांकि उनके पास में अपनी बेगुनाही के भी कोई ख़ास सबूत नही है.

इसी के चलते चिदम्बरम अब 27 तारीख तक सीबीआई की मेहमाननवाजी में रहेंगे जहां पर उनसे सवाल जवाब किये जायेंगे. हालांकि उनकी गरिमा का ख्याल रखने की भी नसीहत दी गयी है क्योंकि अभी वो दोषी साबित नही हुए है और देश के पूर्व वित्त और गृह मंत्री भी रहे है. अब ये देखना होता है कि जांच में क्या कुछ होता है?