गिरफ्तार होने से बचने चिदम्बरम ने लगायी थी सुप्रीम कोर्ट में अर्जी, फैसला भी आ गया

496

कभी देश के सर्वेसर्वा नेताओं में शुमार किये जाने वाले पी चिदंबरम इन दिनों बहुत ही भारी मुसीबत में फंसे हुए नजर आ रहे है और मुसीबत भी ऐसी है कि उनके बाहर निकल आने के चांस भी बड़े ही कम दिख रहे है. दरअसल पी चिदम्बरम पर आरोप है कि उन्होंने पद पर रहते हुए न सिर्फ विदेशी फंडिंग को गलत तरीके से मंजूरी दी बल्कि साथ ही साथ में उन्होंने आईएनएक्स का घोटाला भी किया है. इस पर उन पर लम्बे समय से केस चल रहा था और केस में वो बार बार जमानत पर छूट भी रहे थे.

आखिरकार कोर्ट ने सीबीआई से गिरफ्तार करने को कहा
हाई कोर्ट काफी लम्बे समय से इस पर सुनवाई कर रहा था और सुनवाई के दौरान अब जाकर के उन्होंने कहा कि अगर अब चिदम्बरम को हम जमानत देते है तो फिर इससे बेहद ही गलत सन्देश जाएगा और हम ऐसा नही चाहते है. सीबीआई इसके बाद में गिरफ्तार करने उनके घर पर पहुन्ची लेकिन वो फरार हो चुके थे और बचने के लिए तरह तरह से जतन भी कर रहे थे.

सुप्रीम कोर्ट में दायर की बचाने की अर्जी, कोर्ट बोला हम कुछ नही कर सकते सीजेआई के पास जाओ
चिदंबरम ने गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी भी दायर कर दी जिस पर सुवाई करते हुए जज ने कहा कि हम इस पर कोई भी अंतरिम आदेश पास नही कर सकते है. कपिल सिब्बल और सलमान खुर्शीद पी चिदम्बरम की पैरवी कर रहे थे लेकिन उनके हाथ नाकामी ही लगी. इसके बाद मामला सीजेआई को ट्रान्सफर हो गया है. सीजेआई फ़िलहाल राम मंदिर की सुनवाई में व्यस्त है तो उनके पास ये सुनवाई करने का वक्त भला कहाँ से होगा? ऐसे में चिदम्बरम बुरी तरह से फंस गये है ये कहना भी गलत नही होगा.

हालांकि अगर सीजेआई इस पर सुनवाई की दया दिखा देते है तो कुछ चांस बन सकता है लेकिन अगर अभी के वक्त में चिदम्बरम सीबीआई के सामने आ जाते है तो फिर उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाएगा. सोशल मीडिया पर चिदम्बरम को लेकर के खूब चर्चाये हो रही है.