पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प को फ़ोन कर कहा ‘ये सब बिल्कुल भी ठीक नही है’

442

भारत का इंटरनेशनल लेवल पर अपना अच्छा ख़ासा महत्त्व है और इस बात को कोई नकार भी ही सकता है. मगर इन दिनों में कुछ ज्यादा ही मामला गर्म हुआ जिसके चलते कुछ लोग और कुछ देश भी भारत के विरोध में बयानबाजी कर रहे है. जिसमे पाक का नाम तो आता ही है और ऐसे में सभी जानते है सबको कण्ट्रोल करने का काम तो अमेरिका ही करेगा इसलिए पीएम मोदी ने किसी और से बात करने की बजाय सीधे सीधे अमेरिका को ही फोन घुमा दिया और पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प से बातचीत की.

मोदी ने ट्रम्प से फोन पर कहा ‘भारत विरोधी बयानबाजी ठीक नही’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से लगभग आधे घंटे तक बातचीत की और उसमे इमरान खान के भारत विरोधी बयान का अभी जिक्र किया और जिक्र करते हुए कहा इस तरह की भारत विरोधी बयानबजी ठीक नही है. जिस तरह से गलत तरीके से भारत के खिलाफ जिक्र हो रहा है वो बिलकुल भी सही नही लग रहा. इससे शान्ति भंग होती है. इसके अलावा भी पीएम मोदी ने विकास और व्यापार से जुडी बाते की और आधे घंटे तक दोनों की बात होना बताता है कि दोनों देशो के रिश्ते काफी बेहतर है.

खैर अभी भी काफी कुछ है जिसके होने की गुंजाइश है और इस बात से इनकार भी नही किया जा सकता है. दोनों ही देश एक दुसरे को समझ रहे है. बड़ी बात ये है कि अमेरिका लगातार भारत को इंटरनेशनल लेवल पर भी सपोर्ट ही कर रहा है. हाल ही में जब चीन ने भी पाक के कहने पर यूएन सिक्यूरिटी कौंसिल की मीटिंग बुलाई थी तो उसमे भी अमेरिका कही न कही भारत के पक्ष में ही खड़ा दिखाई पडा और चीन के मंसूबो को नाकाम कर दिया.

क्या है अमेरिका के इतने झुकाव की वजह?
दरअसल इसके पीछे की वजह भारत की 3 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था होना है जो भारत को फ़िलहाल दुनिया का सबसे बड़ा बाजार भी बनाता है. ऐसे में अमेरिका के पास यहाँ पर  बिजनेस करने और इन्वेस्ट करने के बहुत मायने है. ऐसे में अगर उसे किसी को चुनना पडा तो वो जाहिर तौर पर भारत को ही चुनेगा. हालांकि व्यापारिक मतभेद तो चलते ही रहेंगे.