अगले महीनो में ये 5 बड़े फैसले लेने जा रहे है प्रधानमंत्री मोदी

622

देश उन्नति की राह पर है. लोगो में जोश और जूनून है और साथ ही साथ में सरकार भी खुलकर के काम कर रही है क्योंकि स्थायी सरकार जो है और ऐसे में उन्हें फैसले लेने से कोई रोक भी नही सकता है लेकिन ऐसी स्थिति में सरकारों पर जिम्मेदारियों का बोझ भी बढ़ जाता है क्योंकि देश में जो कुछ भी होता है फिर उसके लिए वो ही शत प्रतिशत जवाबदेह होते है. अभी हाल ही में सभी देख रहे है ऑटो और कुछ सेक्टर में मंदी की हल्की फुलकी मार पड़ रही है जो कही से भी अच्छे संकेत तो नही है.

ऐसी स्थिति में सरकार को अर्थव्यवस्था से जुड़े कई फैसले लेने की जरूरत भी है और अभी की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आने वाले महज 3 से 4 महीनो के भीतर सरकार ये 5 बड़े फैसले लेने जा रही है जिससे कि उद्योगों को थोड़ी रफ़्तार मिल सके और देश की अर्थव्यवस्था की गाडी पटरी से न उतर जाये.

  1. सरकारी खर्च में कटौती की जायेगी. इसमें मंत्रियो के रोजमर्रा के खर्च ख़ास तौर पर शामिल किये जायेंगे और भी कई गैर जरूरी चीजे है जिन्हें बंद किया जाएगा जिससे कि सरकार 75 हजार करोड़ रूपये बचा सकती है.
  2. उद्योग धंधो को अलग से स्पेशल पैकेज दिए जा सकते है जिससे वो फिर से बूस्ट कर सके, इसके जरिये हजारो लाखो लोगो की नौकरियाँ जाने से बचायी जा सकेगी.
  3. टैक्स रिफोर्म लाने की भी तैयारी की जा रही है. जीएसटी से काम सरल हुआ है लेकिन उस हद तक नही कि कोई भी आसानी से इसके काम कर सके तो बिजनेस टैक्स को और भी अधिक सरल कर दिया जाएगा.
  4. इंडस्ट्रीज को भी टैक्स में बेनेफिट्स देने पर विचार हो रहा है. ये कुछ प्रतिशत तक उन पर पड़ने वाला बोझ कम कर देगा इस बात में कोई भी शक नही है.
  5. सरकार विदेशी निवेशको से बात करेगी और उन्हें अकेले या फिर भारतीय कम्पनियों के साथ में मिलकर के भारत में काम करने और पैसा लगाने के लिए प्रोत्साहित करेगी.

मोदी सरकार की नीतियाँ तो काफी बेहतरीन है इस बात में कोई भी शक नही है. अब उम्मीद यही की जा रही है कि जिस तरह की उम्मीद लोग लगाकर के बैठे है वैसा ही कुछ उन्हें परिणाम के रूप में भी देखने को मिले.