15 अगस्त पर भी कश्मीर पर राजनीति खेलने लगी ममता बनर्जी, दिया ये विवादित बयान

392

हाल ही में भारत के पिछले दिन काफी ऐतहासिक रहे है क्योंकि बदलते हुए समय के साथ में बदलाव जरूरी भी होता है. कश्मीर में जो हुआ है उसे लेकर के लोगो के बीच में एक सहमती तो है ही कि जो भी हो रहा है ठीक ही हो रहा है लेकिन जो इसे राजनीतिक चश्मे से देखते है या फिर देखनें की कोशिश करते है उनके लिये ये गलत है. ऐसा ही कुछ इन दिनों ममता बनर्जी के साथ में भी हो रहा है जो इसे पूरी तरह से गलत और अलोकतांत्रिक बता रही है.

ममता ने बताया कश्मीर पर सरकार के काम को अलोकतांत्रिक
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हाल ही में जो कुछ भी कश्मीर में हुआ है उस पर चिंता जताते हुए कहा ‘मैं कश्मीर से प्यार करती हूँ. मैं 370 के गुण दोष पर नही जाउंगी लेकिन इतना जरुर कहूंगी कि जो कुछ भी हुआ उसका तरीका गलत था. जिस तरीके से लोगो को आतंकित करके फैसला लागू किया गया वो अलोकतांत्रिक था. हमें ये भी मालूम नही है कश्मीर के नेता और वहाँ के पूर्व मुख्यमंत्री आखिर कहाँ है? सरकार ने ताकत से इस पूरे मामले को दबा दिया है.’

ममता को लोग दिलाने लगे अपने ही राज्य के हालात की याद
ममता बनर्जी ने जब केंद्र को टार्गेट करने की कोशिश की तो सोशल मीडिया पर लोग बाज नही आये और उन्होंने ममता बनर्जी को याद दिलाया कि जब बंगाल में शासन व्यवस्था ताक पर चली जाती है तब वो क्यों कुछ नही करती? लोगो को सिर्फ इसलिए पीट दिया जाता है क्योंकि वो राम का नाम लेते है. कई बीजेपी कार्यकर्ता अपनी जान गँवा चुके है लेकिन ममता बनर्जी को अभी भी अपने बंगाल को छोडकर बाकी सब राज्यों की चिंता जो अपने आप में काफी अजीब है.

खैर कश्मीर में सब कुछ सामान्य हो रहा है. हालात काबू में है और संभव है आने वाली 20 तारीख के आस पास तक फोर्सेज की हालत पहले की ही तरह सामान्य हो जाए जिसमे कश्मीर जहाँ मर्जी आ जा सके और सारी सुविधाए जो भी सुरक्षा के लिहाज से रोकी गयी है वो बहाल हो.