ममता बनर्जी को बैक टू बैक दो झटके, खिसक रही है पैरो तले जमीन

362

ममता बनर्जी कभी एक वक्त में बंगाल की काफी कद्दावर नेता हुआ करती थी लेकिन जैसे जैसे वक्त बीतता चला गे वैसे वैसे भाजपा ने बंगाल में अपनी जड़े मजबूत करनी शुरू की वैसे वैसे ममता बनर्जी का भी घटना शुरू हो गया. अब जिस तरह का लोकसभा चुनावो का रिजल्ट आया है उसके बाद में तो उनके लिये जद्दोजेहद और भी ज्यादा बढ़ गयी है. आये दिन कोई न कोई टीएमसी का साथ छोड़ रा है आर अब हाल ही में पिछले कुछ दिनो में ममता बनर्जी को और भी ज्यादा बड़ी समस्याओं से दो चार होना पडा है.

पहला झटका, ममता के विश्वासपात्र सोवन चटर्जी ने भाजपा ज्वाइन की
वैसे तो टीएमसी से कई नेता ई जो बीजेपी ज्वाइन कर रहे है लेकिन हाल ही में सोवन चटर्जी ने भी भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली है. सोवन चटर्जी ने मुकुल रॉय और अरुण सिंह की उपस्थिति में भाजपा ज्वाइन कर ली है. ये ममता बनर्जी के लिए खतरे की घंटी कहा जा रहा है क्योंकि ममता बनर्जी के कई राज है जो सोवन चटर्जी को मालूम है और उनके बीजेपी में होने का मतलब तो आप खुद भी समझ ही सकते है.

दूसरा झटका, ममता के भतीजे को जाना होगा कोर्ट
ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी के सांसद अभिषेक बनर्जी पर आरोप है कि उन्होने चुनाव में जाली शपथ पत्र का उपयोग किया था. इसी कारण से उनके खिलाफ कोर्ट में मुकदमा दर्ज हुआ है और अब उन्हें कोर्ट में पेश होना होगा. वो तृणमूल के काफी दिग्गज नेता है और अब संसद में उनके गिने चुने नेंताओ में से एक है तो ऐसे में ममता के लिए अभिषेक को बचाना बहुत ही अहम् हो जाता है जिसके लिए वो पूरी तरह से जोर लगा रही है लेकिन जो होना है सो तो होकर के ही रहेगा.

ममता बनर्जी पर इनके अलावा भी कई मुसीबते है जैसे लोग उन पर धर्म के आधार पर ध्रुवीकरण करने का, भेदभाव करने का और अपने विरोधियो से गलत तरीके से निपटने का आरोप लगाते है इसके अलावा उनकी नीतियों से भी बंगाल को काफी नुकसान हुआ है ऐसा कहा जाता है.