कांग्रेस कमिटी का नये अध्यक्ष पद पर बड़ा फैसला, तो अब गांधी विहीन होगी पार्टी?

346

कांग्रेस पार्टी को शुरू से ही एक दिक्कत का सामना करना पड़ा है और वो दिक्कत है उसपर वंशवाद का आरोप. लगातार भाजपा और बाकी दल भी कांग्रेस पर गांधी परिवार के पीछे चलने का आरोप लगाते आ रहे है और ऐसे में पार्टी से राहुल ने अपनी तरफ से तो इस्तीफा सौंप ही दिया. हालांकि उस पर भी अभी तक विवाद जरुर है लेकिन अभी हाल ही में जो कांग्रेस कमिटी की बैठक हुई है उसमे जो कुछ भी हुआ है वो अपने आप थोडा सा चौंकाने वाला जरुर है.

कुछ इस तरह होगी नये अध्यक्ष के चयन की प्रक्रिया
रिपोर्ट के अनुसार अध्यक्ष के चयन को लेकर के 5 कमिटियाँ या फिर कह सकते है टीमे बनाई गयी है जिसमे कांग्रेस के बड़े बड़े सदस्य है. ये लोग अलग अलग क्षेत्र के नेताओं से राय लेकर के एक रिपोर्ट सौंपेंगे जिस आधार पर कांग्रेस के नये अध्यक्ष का चयन किए जायेगा. हाल ही में जो बैठक हुई थी उसमे राहुल से लेकर सोनिया, प्रियंका, वेणुगोपाल, अहमद पटेल और बाकी कई दिग्गज नेता मौजूद थे. चर्चा लगभग डेढ़ घंटे से भी अधिक समय तक चली है और इसमें कई कड़े फैसले भी हुए है.

राहुल और सोनिया नही होंगे अध्यक्ष चयन प्रक्रिया में शामिल
राहुल गांधी और सोनिया गांधी दोनों ही चाहते है कि चयन बिलकुल निष्पक्ष तरीके से हो और इसके लिये उन दोनों को चयन के समय की मीटिंग्स या प्रक्रिया का हिस्सा नही होना चाहिये. इसी के चलते वो दोनों मीटिंग्स छोडकर के चले गये है जबकि प्रियंका गांधी वाड्रा अभी तक वही है और संभवत अपनी राय भी रखेगी. सब ये प्रक्रिया समाप्त होने के साथ ही कांग्रेस को एक नया अध्यक्ष मिल जायेगा.

एक लॉबी अभी भी चाहती है वापिस आये राहुल कांग्रेस में जो भी गांधी परिवार के करीबी वरिष्ठ और दिग्गज नेता है उनका तो यही कहना है कि राहुल के मार्गदर्शन की अभी भी हमें जरूरत है. एक गांधी ही है जो हम सबको बांधकर के रख सकते है, उन्हें वापिस से अध्यक्ष पद की कमान संभाल लेनी चाहिए और आगे बढनी चाहिये. जबकि राहुल एक नॉन गांधी के चयन पर अड़े हुए है.