धारा 370 हटाने के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा ये वकील, जानिये पूरा मामला

703

इन दिनों हिन्दुस्तान बड़ा ही खुश है क्योंकि जो कश्मीर लम्बे समय से अनुच्छेद 370 की वजह से हिन्दुस्तान से बिलकुल कटा हुआ सा था अब वो एक हो गया है.एक भी इस कदर हो गया है कि वहाँ पर कोई भी जमी वगेरह खरीद सकता है. सभी के लिए इन्वेस्टमेंट के दरवाजे भी खुल गये है लेकिन इतना सब कुछ करना भी सरकार के लिए आसान तो बिलकुल भी नही था क्योंकि आये दिन अब इसके विरोधी खड़े हो रहे है और उनमे से एक सुप्रीम कोर्ट के वकील भी है जो सरकार की इस राय से सहमत नही है.

मनोहरलाल शर्मा ने याचिका दायर की, सरकार के फैसले को पलटे न्यायालय
पहले से ही कई आलोचनाओ के शिकार मनोहरलाल शर्मा जो कि वकील है उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका  दायर की है जिसमे उनका कहना है कि सरकार का ये कदम बिलकुल मनमानी से भरा हुआ और असंवैधानिक है. कोर्ट को इसमें दखल देते हुए इस फैसले को पलटकर के दुबारा से इस अनुच्छेद को कश्मीर में लागू करना चाहिये. अब इस पर जल्द ही सुनवाई भी होगी लेकिन क्या इसके परिणाम निकल सकते है?

इस मामले में क्या कर सकता है सुप्रीम कोर्ट?
इस पर सुनवाई करने का अधिकार तो सुप्रीम कोर्ट के पास में है लेकिन इस पर पूर्ण रूप से फैसला देने का अधिकार सुप्रीम कोर्ट के पास है या नही इस पर भी संशय है क्योंकि संविधान ने ये अधिकार सिर्फ संसद और राष्ट्रपति को दिया है कि वो चाहे तब नोटिफिकेशन जारी करे और चाहे तब हटा ले. ये भी एक स्वाभाविक प्रक्रिया है और ऐसे में संभव है कि सुप्रीम कोर्ट संसद से इस सम्बन्ध में बदलाव करने को कहे और ये उन पर है कि वो कुछ करे न करे क्योंकि ये पूरा मसला राष्ट्रपति के आदेश से जुड़ा है और सुप्रीम कोर्ट राष्ट्रपति के आदेश के खिलाफ कुछ भी बोलकर महामहिम की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने की कोशिश नही करेगा.

पहले भी आलोचना झेल चुके है मनोहर लाल शर्मा ऐसा पहली बार नही है जब मनोहर लाल शर्मा किसी जनभावना विरोधी केस में हाथ डाल रहे है. इससे पहले भी मिस्टर शर्मा ने निर्भया केस के आरोपियो को बचाने के लिए केस लड़ा था. इसके बाद उनकी सोशल मीडिया पर अच्छी खासी आलोचना हुई थी.