दिल का दौरा पड़ने से ठीक पहले सुषमा जी ने किया था इनको फोन, बोली ‘जल्दी आओ, रूपया ले जाओ’

769

सुषमा स्वराज का आज अंतिम संस्कार हो गया. दिन भर में बीजेपी ने अपने सारे कार्यक्रम भी रद्द कर दिये थे क्योंकि ये पार्टी के लिए बेहद ही शोक का समय था क्योंकि पूरे दल को इस उंचाई तक पहुंचाने में सुषमा जी के योगदान को कही से भी नकारा नही जा सकता है. मगर जब कल सुषमा जी को दिल का दौरा पड़ा था उससे कुछ समय पहले ही सुषमा जी ने एक फोन कॉल किया था जिसका जिक्र हर किसी के पास में देखने को मिल रहा है और ये उनके देशप्रेम को भी बताने के लिए काफी है.

हरीश साल्वे को किया था फोन सुषमा स्वराज ने आखिरी फोन
सुप्रीम कोर्ट के बहुत ही जाने माने वकील हरीश साल्वे को किया था. सुषमा जी ने हरीश जी को कॉल करके कहा आपने कुलभूषण जाधव का जो केस लड़ा था उसकी एक रूपये की फीस आपको देनी अभी भी बाकी है. आप घर आइये और जल्दी से जल्दी अपनी फीस ले जाइये. सुषमा जी की कही हुई इस बात के बारे में हरीश साल्वे ने खुद मीडिया को इंटरव्यू देते हुए बताया और वो अन्दर ही अन्दर भावुक भी हो गये.

1 रूपये में लड़ा था कुलभूषण जाधव का केस
जब भारत कुलभूषण जाधव का मसला अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में ले गया था तब पाक के खिलाफ भारत की पैरवी करने वाले वकील हरीश साल्वे थे जिन्होंने उसे बुरी तरह से न्याय के मंच पर पटखनी दी थी. उन्होंने इसके लिए सांकेतिक तौर पर महज एक रूपया फीस रखी थी. सुषमा जी उस वक्त विदेश मंत्री थी जब ये मुकदमा हुआ था और तब हरीश साल्वे उन्ही के कहने पर केस में गये थे और जीतकर के आये थे. अब सुषमा जी उनसे जिद कर रही थी कि वो आये और अपनी जो सांकेतिक फीस थी वो लेकर के जाए लेकिन वो आ नही पाए.

इसी तरह के सुषमा जी की जिन्दगी से जुड़े कई ऐसे किस्से है जो उनके महान व्यक्तित्व को बताते है और कही न कही इससे ये भी मालूम चलता है कि वो अपने हिसाब किताब के मामले में कितनी साफ़ थी? वरना राजनीति के अन्दर जाकर लोगो के हिसाब कहाँ साफ़ रह पाते है.