प्यार में पाकिस्तान जाकर फंसे हामिद को बचाकर लाई थी सुषमा स्वराज, अब देहांत पर कही ये बात

1132

सुषमा स्वराज अब इस दुनिया में नही रही. कल देर रात को उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिसके चलते उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन उन्हें बचाया नही जा सका और आखिरकार रात के सवा 11 बजे उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए जिसके बाद से ही कई लोग है कई दिग्गज नेता है जो उन्हें याद कर रहे है, उनके लिए श्रद्धान्जलि अर्पित कर रहे है. ऐसे में एक युवक है जो वाकई में इस खबर को सुनकर के वाकई में टूट गया है. ये वो मुस्लिम युवक है जो आज जीवित है तो सुषमा स्वराज की वजह से है.

कौन है हामिद?
हामिद हिन्दुस्तान का ही रहने वाला एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर है जिसे सोशल मीडिया के जरिये एक पाकिस्तानी लडकी से प्यार हो गया. उसे उससे मिलना था इसलिए वो पाकिस्तान में अफगान के रास्ते से छुपकर के दाखिल हो गया. वहाँ पर जाते ही सुरक्षा एजेंसियों ने उसे अरेस्ट कर लिया और गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया. लड़की जिसके प्यार में वो गया था उसने भी उसे पहचानने से इनकार कर दिया इसके बाद उसके घर वालो ने भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई और उसे वापिस लाने की कोशिश शुरू की गयी.

तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने खुलकर की मदद, आखिरकार हुई वतनवापसी
सुषमा स्वराज से इस मामले में मदद की गुहार लगाई गयी थी जिसके बाद में सुषमा जी ने खुद मामले में दखल दिया और विदेश मंत्री होने के नाते उन्होंने पाकिस्तान से संवाद करके उन्हें सारे सबूत उपलब्ध करवाए जिसके बाद पाकिस्तान को हमीद को छोड़ना ही पड़ा और आखिरकार उसकी वतनवापसी हुई. वो आज एक सामान्य जिन्दगी जी पा रहा है, आजाद जीवन में है तो सिर्फ सुषमा जी की बदौलत.

निधन पर हामिद ने क्या कहा?
हामिद ने कहा मेरे दिल में उनके लिए बहुत सम्मान है. पाकिस्तान से लौटने के बाद उन्होंने मुझे जिन्दगी में दुबारा आगे बढ़ने के लिए समझाया. वो मेरे लिए मेरी माँ की तरह थी.और मेरे दिल में वो हमेशा ज़िंदा रहेगी. आज हामिद जैसे हजारो लोग है जो उनके देहांत पर आंसू बहा रहे है.