कश्मीर पर राहुल गांधी का अलगावादियों को समर्थन, दिया ये देशविरोधी बयान

428

फ़िलहाल देश में माहौल बहुत ही ज्यादा गर्म हो है और इस गर्मी के पीछे की वजह भी है कि सरकार सबसे संवेदनशील मसले पर अपना फैसला सुना चुकी है. नरेंद्र मोदी की सरकार ने देखते ही देखते कश्मीर से धरा 370 को अपनी तरफ से हटा लिया है जिसके बाद ये पूरा प्रदेश पूर्ण रूप से भारत का अंग बन चुका है. सब लोग इसकी अच्छी खासी तारीफ़ कर रहे है और बनती भी है. मगर जब फैसले इतने बड़े देश के लिए होते है तो विरोध होता भी है और इस फैसले की सबसे बड़ी विरोधी बनकर के सामने आयी है कांग्रेस पार्टी.

राहुल गांधी ने बताया इसे शक्तियों का दुरूपयोग
राहुल गांधी ने इस पूरी घटना पर ट्वीट करते हुए कहा ‘ देश की एकता का विस्तार कभी भी जम्मू कश्मीर को तो टुकडो में तोडकर के नही होगा. चुने हुए प्रतिनिधियों को जेल में बंद करना इस देश के क़ानून का उल्लंघन है. इस देश का निर्माण लोगो से होता है न कि जमीन के टुकड़े से. मोदी सरकार ने अपनी ताकत का दुरूपयोग किया है और ये राष्ट्रीय सुरक्षा के लिये बहुत ही ज्यादा चिंता से भरा हुआ है.’ राहुल गांधी ने मोदी सरकार के इस फैसले की जमकर के जितनी हो सके उतनी आलोचना की है.

सिर्फ राहुल ही नही बाकी कांग्रेस नेता भी कर रहे है खुलकर के विरोध
राहुल ही नही बाकी कांग्रेस नेता भी इसका खुलकर के विरोध कर रहे है. गुलाम अली नवाब जो कश्मीर से आते है उन्होंने इसे जम्मू कश्मीर से धोखा बताया है. वो कहते है जिस मर्जी से हमने इस रियासत को भारत में मिलाना तय किया था उसे तोडा गया है. जम्मू के लोगो की इसमें राय ही नही पूछी गयी. पीडीपी के सांसदों ने तो संसद में कपडे तक फाड़ दिए थे और विरोध दर्ज करवाया है.

राहुल के इस तरह के बयान के बाद में लोग उनकी आलोचना कर रहे है. एक ट्विटर यूजर ने तो ये तक लिख दिया कि अगर जमीन के टुकड़े से देश नही बनता तो वो समंदर में देश क्यों नही बना लेते है? खैर इस तरह के बयान के बाद में नेताओं को आलोचना का सामना करना ही पड़ता है.