सुषमा स्वराज का अचानक एम्स में निधन, शाम 7 बजे तक थी बेहद खुश

173

भारतीय जनता पार्टी में पिछले दो दिनों से बड़े ही ख़ुशी का माहौल था क्योंकि उन्होंने अपने सबसे बड़े एजेंडे को प्राप्त कर लिया था आखिर कश्मीर में वो जो चाहते थे वो हो गया लेकिन शाम ढलते ढलते कुछ बुरा होने के संकेत सामने आने शुरू हो गये. इधर दिन ढला और सुषमा जी की तबीयत खराब होनी शुरू हो गयी. उन्हें तुरंत दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती करवाया जहाँ पर 5 डॉक्टर्स की टीम लगातार उनका इलाज कर रही थी. रिपोर्ट के अनुसार उन्हें दिल का दौरा पड़ा था और जब उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया तो उनके पास में उनके परिवारजनों के अलावा बीजेपी के भी कई लोग मौजूद थे जिनमे नितिन गडकरी और डॉक्टर हर्षवर्धन भी शामिल थे.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी इस खबर को सुनकर के तुरंत निकल पड़े. सुषमा जी का इलाज काफी लम्बे समय तक चला लेकिन उन्होंने रात को लगभग सवा 11 बजे अपने प्राण त्याग दिये. देश की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन 67 वर्ष की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में हुआ. उन्हें काफी जोर से दिल का दौरा पड़ा जिसे वो सहन नही कर पायी.

उनके देहांत की खबर फैलते ही भाजपा के लोगो का एम्स के अस्पताल में जमावड़ा लग गया, सबकी आँखों में आंसू थे और हर कोई दुखी था. सुषमा जी शाम को 7 बजे तक बेहद ही खुश थी. उन्होंने पीएम मोदी और सरकार को धारा 370 हटाने के लिये बधाई दी थी.

सरकार के इस कार्य से वो दिल से खुश थी और होना बनता भी है आखिर उन्होंने देश के लिए और पार्टी के लिए अपनी जान खपा दी थी. विदेश मंत्री रहते हुए उन्होंने देश के लिये बहुत ही बेहतरीन सेवा दी. उन्होंने ट्विटर के माध्यम से कई विदेश में फंसे भारतीयों को न सिर्फ बचाया बल्कि अपनी बेहतरीन विदेश नीति से भारत को नये आयाम दिए.