महबूबा और उमर अब्दुल्लाह नजरबंद, रात भर में कश्मीर में इतना सब हो गया

490

कश्मीर में जिस बड़े होने की बात कही जा रही थी उसकी शुरुआत कल देर रात को कर दी गयी. जब सब लोग सोने चले गये तब पीछे से अचानक से जो हुआ उसने सबकी नींदे उड़ाकर रख दी. अगर आपको पहले का घटनाक्रम मालूम नही हो तो बता दे पिछले दो दिनों में कई हजारो की संख्या में अतिरिक्त सुरक्षा बल कश्मीर में तैनात किये गये, रैपिड एक्शन फ़ोर्स भी लगायी गयी, सारे टूरिस्ट्स को लिखीत में एडवायजरी जारी करके राज्य से बाहर चले जाने को कहा गया और आखिरकार अब उसकी परिणामी घटनाएं नजर आने लग गयी है.

महबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्लाह समेत कई बड़े नेता नजरबंद
कश्मीर में देर रात को धारा 144 लगा दी गयी है जिसके बाद में पूरे राज्य में किसी की भी बाहर आवाजाही बंद है. मोबाइल और इन्टरनेट सेवाओं पर भी रोक लगा दी गयी है और इसके अलावा कई बड़े बड़े दिग्गज नेताओं जिनमे महबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्लाह का नाम भी शामिल है उन्हें सुरक्षा बलों और पुलिस के द्वारा नजरबंद कर दिया गया है.दोनों नेता ट्विटर पर खुदको बचाने के लिये गुहार लगा रहे है और हर कोई सरकार के इस पूरे एक्शन से बेहद ही हैरान है.

महबूबा को अब वाजपेयी लगने लगे देवता सामान
कश्मीर में महबूबा और बाकी नेताओं के साथ में जो हो रहा है इससे परेशान होकर के महबूबा ने कहा वाजपेयी एक बीजेपी नेता होने के बावजूद हम कश्मीरी लोगो से सहानुभूति रखते थे. आज हम लोग उनकी बेहद ही कमी महसूस कर रहे है. वही फारूख अब्दुल्लाह ने सरकार से कुछ भी ऐसा कदम न उठाने की अपील की है जिससे घाटी में हालात पहले की तुलना में खराब हो जाये.

आगे क्या होने वाला है?
आगे जो भी होने जा रहा है वो सरकार आज ही निर्धारित करेगी क्योंकि इतने बड़े बड़े नेताओं को अधिक समय तक नजरबंद नही रखा जा सकता है. संभव है कश्मीर की विवादित धाराओं को हटा दिया जाये या फिर इस पूरे राज्य के एक बड़े हिस्से को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया जाये, कुछ भी कह पाना संभव नही है, मगर कश्मीरी अब घर से बाहर भी नही निकल पा रहे है सब तरफ सन्नाटा है.