अलगाववादी नेता गिलानी ने मांगी मुस्लिम देशो से मदद, बोले ‘बचा लो ये लोग हमे छोड़ेंगे नही’

1165

अब भारत का एक सूबा है जिसमे हलचल बड़ी ही तेज है. संसद भवन में मीटिंगो का दौर चल रहा है, फौजियों के कदम जमीन को हिला रहे है और पूरा जम्मू कश्मीर हाई अलर्ट पर है. हर कोई परेशान है कि सरकार इस तरह से चप्पे चप्पे पर जवानो को तैनात करके आखिर करना क्या चाह रही है? स्वाभाविक सी बात है हर किसी के मन में जिज्ञासा तो उठेगी ही उठेगी मगर कुछ लोग है जिनके मन में डर उबाल मारने लगा है और उनमे सबसे बड़ा नाम गिलानी है जो ट्वीट करके भारत के खिलाफ विदेशो से मदद मांग रहा है जो थोडा अजीब भी है.

ट्वीट कर गिलानी ने मांगी मुस्लिम देशो से मदद
कश्मीर में केंद्र सरकार के बढ़ते हुए दखल से घबराकर के कश्मीर में माहौल खराब करने के मास्टरमाइंड सैयद अली गिलानी ने एक ट्वीट किया जिसमे वो लिखते है ‘इस ट्वीट को इस धरती या ग्रह पर रहने वाले मुस्लिमो के लिए एसओएस यानी सेव अवर सॉल के सन्देश के रूप में लिया जाना चाहिये. अगर हम सभी मर गये और आप सभी लोग यूँही चुप रहे तो उसके लिए आप अल्लाह को जवाबदेह रहेंगे. ये हिन्दुस्तानी हमारे खिलाफ नर सहार करने जा रहे है. अल्लाह हम सभी की रक्षा करे.’ गिलानी का ये ट्वीट खूब वायरल हुआ है.

महबूबा पहले ही जोड़ चुकी है हाथ
ये डर सिर्फ गिलानी में नही है बल्कि बाकी कश्मीरी नेताओं का भी ऐसा ही हाल है. महबूबा मुफ़्ती ने मीडिया के सामने आकर के हाथ जोड़ते हुए भारत की जनता और भारत के प्रधानमंत्री से कोई भी अनचाहा कदम न उठाने के लिये विनती की है. वो लगातार ट्वीट करके भी खुदको बचाने की भरपूर कोशिश कर रही है और ऐसे में सरकार तो अपने काम में लगी हुई है.

अब भारत ऐसा आखिर क्या करने जा रहा है? ये या तो मोदी बता सकते है या फिर शाह के अलावा विपिन रावत या अजीत डोभाल बता सकते है क्योंकि सारी जिम्मेदारियां और शक्तियां इन्ही की जेब में है और अंतिम फैसला इन्ही आधा दर्जन लोगो की इच्छा से होगा.